भारत 04 फरवरी, 2021 को एयरो इंडिया 2021 – 3 से 5 फरवरी, 2021 तक बेंगलुरु में आयोजित होने वाले एशिया के सबसेबड़े एयरो शो- के दौरान हिंद महासागर क्षेत्र (आईओआर) के रक्षा मंत्रियोंके सम्मेलन की मेज़बानी करेगा । सम्मेलन का व्यापक विषय ‘हिंद महासागर मेंशांति, सुरक्षा और सहयोग में वृद्धि’ करना होगा । यह आयोजन रक्षा सचिव केस्वागत भाषण और हिन्द महासागर क्षेत्र के विभिन्न देशों के रक्षा मंत्रियोंके संबोधन के साथ शुरू होगा । रक्षा मंत्री श्री राजनाथ सिंह इस दौरानसमापन भाषण देंगे।

दिनांक 30 जनवरी 2021 तक चार देशों (मालदीव, कोमोरोस, ईरान औरमेडागास्कर) के रक्षा मंत्रियों, छह देशों (ऑस्ट्रेलिया, केन्या, सेशेल्स, मॉरीशस, कुवैत और म्यांमार) के राज़दूतों/ उच्चायुक्तों, सूडान के रक्षासचिव और 10 देशों के सेना प्रमुखों समेत कुल 18 देशों से सम्मेलन मेंभागीदारी की पुष्टि हुई है । इसके अलावा छह देश या तो सीधे आभासी रूप सेभाग ले रहे हैं या अपने रिकॉर्डेड संदेश भेज रहे हैं ।

यह सम्मेलन एक संस्थागत, आर्थिक और सहकारी वातावरण में बातचीतको बढ़ावा देने की एक पहल है जो हिंद महासागर क्षेत्र में शांति, स्थिरताऔर समृद्धि के विकास को बढ़ावा दे सकता है । यह सम्मेलन भाग लेने वालेदेशों के बीच रक्षा उद्योग सहयोग से जुड़े विषयों, डिजाइन और जहाज निर्माणके लिए भारतीय रक्षा शिपयार्डों में उपलब्ध संसाधनों का आदान-प्रदान, मित्रदेशों के साथ भारतीय बंदरगाहों, बढ़ी हुई समुद्री डोमेन जागरूकता की दिशामें सूचना साझा करने, समुद्री निगरानी और सहयोग, मानवीय सहायता और आपदाराहत (एचएडीआर), समुद्री प्रदूषण की प्रतिक्रिया संबंधी गतिविधियों, समुद्री संसाधनों के इस्तेमाल के लिए प्रौद्योगिकियों और क्षमताओं का विकासइत्यादि विषयों पर चर्चा करेगा ।

रक्षा मंत्रियों के सम्मेलन के बाद दो सेमिनार होंगे । पहलासेमिनार भारतीय नौसेना और नौसेना मैरीटाइम फाउंडेशन द्वारा 4 फरवरी, 2021 को आयोजित किया जाएगा और दूसरा सेमिनार भारतीय तटरक्षक/ भारत शक्ति/इन्वेस्ट इंडिया/ भारतीय रक्षा शिपयार्ड एंड इंडस्ट्री द्वारा दिनांक 5 फरवरी, 2021 को आयोजित किया जाएगा।

कॉन्क्लेव और दोनों अनुवर्ती सेमिनार ‘शांति, प्रगति औरसमृद्धि’ के क्षेत्र में हिन्द महासागर क्षेत्र को साकार करने और सतत विकासऔर पारस्परिक सह-अस्तित्व के लिए क्षेत्र के देशों के बीच सहयोग और समन्वयको बढ़ाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते रहेंगे ।

भारत भौगोलिक रूप से हिंद महासागर के लिए केंद्रीय देश है औरइसका 7,500 किलोमीटर का विशाल समुद्र तट है । प्रधानमंत्री श्री नरेंद्रमोदी द्वारा व्यक्त भारत के दृष्टिकोण सिक्योरिटी एंड ग्रोथ फ़ॉर ऑल (सागर)को हिंद महासागर क्षेत्र (आईओआर) के देशों के बीच घनिष्ठ सहयोग के बिनासाकार नहीं किया जा सकता है । 2020 के महामारी वर्ष के बीच भारत विश्वएयरोस्पेस और रक्षा (एएंडडी) नेताओं के लिए एक अंतरराष्ट्रीय मंच के आयोजनमें अग्रणी भूमिका निभा रहा है ताकि विचारों का आदान-प्रदान किया जा सके औरएयरोस्पेस और रक्षा (एएंडडी) क्षेत्र में सहयोग की दिशा में साझेदारियांहों

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *