राजधानी दिल्ली के प्रशांत विहार इलाके में प्रसिद्ध टीवी सीरियल दीया बाती और हम की अभिनेत्री प्राची तेहलान से पीछा कर, मारपीट करने एवं छेड़छाड़ की वारदात सामने आई है। घटना रविवार देर रात की है। पुलिस ने इस मामले में गिरफ्तार सभी चार युवकों को जमानत पर रिहा कर दिया है।

वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि प्राची तेहलान अपने पति के साथ रोहिणी सेक्टर-14 स्थित अपार्टमेंट में रहती हैं। वह अपने पति के साथ 31 जनवरी को रूप नगर अपने रिश्तेदार के घर गई थीं। देर रात दोनों कार से घर लौट रहे थे। तभी रास्ते में यह हादसा हुआ।

पहले कार में टक्कर मारी और फिर पीछा किया
प्राची और उसके पति अभी मधुबन चौक के पास पहुंचे थे तभी कार सवार कुछ युवकों ने उन्हें ओवरटेक किया। इसके बाद युवकों ने अपनी कार से प्राची की कार में टक्कर मारी और ओवरटेक कर रास्ता रोकने की कोशिश की। चूंकि रात करीब 1 बजे रहे थे और रास्ता सुनसान था इसलिए अभिनेत्री ने रास्ते में रुक कर सहायता लेने के बजाय घर की तरफ जाना उचित समझा।

दहशत में कांप रहे थे हाथ
प्राची के पति कार चला रहे थे। लेकिन बदमाश जिस तरह अपशब्द कह कर जान से मारने की धमकी दे रहे थे उससे उनके हाथ कांप रहे थे। वह तेजी से कार चलाते हुए अपने घर की तरफ बढ़ रहे थे। लेकिन युवकों ने पीछा करना जारी रखा। वे दोनों अपनी सोसायटी में पहुंच गए और अभी आराम ही कर रहे थे। तभी बदमाश वहां भी आ पहुंचे।

सीसीटीवी कैमरे में कैद हुई अभद्रता
सोसायटी की पार्किंग में बदमाशों ने प्राची और उनके पति से मारपीट की। बदमाशों ने प्राची के साथ अभद्रता की और अपशब्द भी कहे। हालांकि वहां पर काफी भीड़ जमा हो गई थी लेकिन युवकों के आक्रामक रवैये को देखते हुए किसी की हिम्मत नहीं हो रही थी। इसी बीच प्राची किसी तरह निकलकर अपने फ्लैट में चली गईं। तब भी युवक पीछा कर फ्लैट का दरवाजा खटखटाने कर बाहर निकलने को कहने लगे। इसके बाद प्राची ने पीसीआर को फोन कर घटना की सूचना दी। 

प्रशांत विहार के एसएचओ प्रवीन कुमार अन्य पुलिसकर्मियों के साथ मौके पर पहुंचे और चारों युवकों को हिरासत में ले लिया। इसमें कशिश और आशीष सगे भाई हैं एवं दो अन्य की पहचान अक्षय एवं चिराग के तौर पर हुई है। यह सभी शराब के नशे में थे। पुलिस ने छेड़छाड़, मारपीट एवं पीछा करने आदि धाराओं में मुकदमा दर्ज कर सोमवार को सभी गिरफ्तार कर लिया। चूंकि यह सभी जमानती अपराध हैं इसलिए इन्हें थाने से जमानत दे गई। सभी आरोपी 23 से 25 साल के हैं और व्यवसायी परिवार से ताल्लुक रखते हैं। ये सभी पीतमपुरा इलाके के रहने वाले हैं।

गश्त के लिए नहीं है पुलिस
दिल्ली पुलिस इन दिनों किसान आंदोलन में व्यस्त है।इसकी वजह से थानों में स्टाफ की कमी हो गई है और रात की गश्त के लिए पुलिसकर्मी भी पर्याप्त संख्या में उपलब्ध नहीं हो पा रहे हैं। वहीं रास्ते में पीसीआर वैन का न होना भी सवालिया निशान खड़ा करता है।

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *