भारतीय वायु सेना, 3 और 4 फरवरी को येलहंका वायु सेना स्टेशन में वायुसेना प्रमुखों (सीएएस) के कॉन्क्लेव की मेजबानी करेगी।

यह कॉन्क्लेव अपने आप में अनूठा होगा जहां पर विभिन्न देशों के वायु सेना प्रमुख एयरोस्पेस शक्ति रणनीति और तकनीकी विकास से संबंधित वर्तमान मुद्दों पर मंथन करेंगें और अपने विचार रखेंगे।

कोविड-19 की स्थिति को ध्यान में रखते हुए, इस कॉन्क्लेव को हाइब्रिड रूप में मनाने और डिजिटल मीडिया का व्यापक उपयोग करने की योजना बनाई गई है। कॉन्क्लेव का उद्घाटन रक्षा मंत्री, श्री राजनाथ सिंह द्वारा 03 फरवरी 2021 को येलहंका वायु सेना स्टेशन में किया जाएगा। इसमें लगभग 75 देशों के शामिल होने की उम्मीद है।

दुनिया में शांति और सद्भाव को बनाए रखने के लिए राष्ट्रों को एक साथ आने की बढ़ती हुई आवश्यकता के साथ, वायु सेना प्रमुख कॉन्क्लेव एक दूसरे के सर्वोत्तम प्रथाओं के संदर्भ में जानने का अवसर प्रदान करने के अलावा सैन्य उड्डयन, अंतरिक्ष परिचालन और एयरोस्पेस रणनीति से संबंधित मुद्दों पर चर्चा करने के लिए बहुत ही आवश्यक मंच प्रदान करेगा। 

यह कॉन्क्लेव अन्य देशों के साथ भारत के रक्षा सहयोग में कूटनीतिक साधन के रूप में काम करने का भी एक आदर्श उदाहरण साबित होगा, जो कि वैश्विक स्तर पर मित्रता, आपसी विश्वास और क्षमताओं  का निर्माण करने का अवसर प्रदान करेगा। सीएएस कॉन्क्लेव का फोकस क्षेत्र, रक्षा सहयोग में पारदर्शिता को बढ़ावा देना और सैन्य उड्डयन में साझा हितों के क्षेत्रों का निर्माण करना होगा।

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *