आम आदमी पार्टी (AAP) के राष्ट्रीय संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने किसान आंदोलन  में हिस्सा लेने आए कुछ लोगों के लापता होने पर चिंता जताई है। केजरीवाल ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि धरना स्थलों से किसानों के गायब होने का मुद्दा गंभीर चिंता का विषय है। हम उन्हें उनके परिवारों से मिलाने की पूरी कोशिश कर रहे हैं।

केजरीवाल ने कहा कि बीते कुछ दिनों में हमें कई लोगों ने संपर्क कर बताया है कि किसान आंदोलन में हिस्सा लेने आए किसान वापस घर नहीं लौटे हैं। उनका पता नहीं चल पा रहा है, वह लोग मिसिंग हैं। मैं समझ सकता हूं कि जिन लोगों के घर के लोग वापस नहीं लौटे उनके ऊपर क्या बीत रही होगी। यह सभी सरकारों का दायित्व है कि जो लोग लापता हैं उन्हें ढूंढकर परिवारों को सूचित करके उनके सुपुर्द किया जाए। बीते कुछ दिनों से किसान संगठन के लोगों ने सरकार से और मुझसे व्यक्तिगत तौर पर संपर्क किया है। कल किसान संगठन के कुछ लोग मुझसे मिलने भी आए थे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि इसके बाद हमने दिल्ली की जिन-जिन जेलों में 26 जनवरी की घटना के बाद से किसान आंदोलन से संबंधित लोग बंद हैं। उनकी एक लिस्ट तैयार करवाई है। ऐसा भी हो सकता है कि ये लोग जेलों में हों और घर पर संपर्क नहीं कर पाए हों, इसलिए आज हम किसान आंदोलन से संबंधित जो भी लोग जेलों में बंद हैं उनकी सूची जारी कर रहे हैं। इससे परिवार के लोगों को उनके बारे में पूरी जानकारी मिलेगी।  

ऐसे 115 लोगों की सूची बनाई गई है जो कि दिल्ली की अलग-अलग जेलों में बंद हैं। इन्हें दिल्ली पुलिस ने गिरफ्तार किया है। जो लोग मिसिंग है उनके परिवार के लोग यह सूची देख सकते हैं। इससे उन्हें पता चल जाएगा कि उनके घर के लोग गिरफ्तार तो नहीं हुए है। यदि वे गिरफ्तार हुए हैं तो किस जेल में हैं।

अगर उसके बाद भी कुछ लोग मिसिंग रह जाते हैं तो हमने किसान संगठन के लोगों को उन्हें तलाश करने का आश्वासन दिया है। अगर इसके अलावा कोई सूचना मेरे पास आएगी कि लोग मिसिंग है तो उन्हें ढूंढने के लिए प्रयास करूंगा। जरूरत पड़ी तो हम एलजी साहब से मदद लेंगे। इस बारे में केंद्र सरकार से भी बात करेंगे। हम परिवार के लोगों को भी बताना चाहते हैं कि जो लोग भी मिसिंग है उनका पता करके आपको सूचित करेंगे।

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *