भारतीय सेना और JKP ने एक संयुक्त ऑपरेशन के तहत, राजौरी के खवास क्षेत्र के गडोग के घने वन क्षेत्र से बड़ी मात्रा में हथियारों और गोला-बारूद. का ज़खीरा बरामद किया है |

राजौरी और रियासी जिलों में उग्रवाद को पुनर्जीवित करने के लिए आतंकवादी संगठनों की हताश योजना को उस समय बड़ा झटका लगा, जब भारतीय सेना और जम्मू-कश्मीर पुलिस के एक संयुक्त ऑप्रेशन में राजौरी जिले के खवास तहसील के जंगलों में तलाशी अभियान चलाया।

जानकारी के आधार पर, भारतीय सेना और जम्मू-कश्मीर पुलिस द्वारा आज संयुक्त ऑपरेशन किया गया, जो कि राजौरी जिले के खवासा क्षेत्र के चिड़ाखेत के सामान्य क्षेत्र में, पीर पंजाल रेंजों के दक्षिण में है। तलाशी अभियान के दौरान हथियारों और असला बारूदों का वॉर लाइक स्टोरेज बरामद हुआ जिसमें , एके 47 राइफल, एके 47 की तीन मैग्ज़ाइन्स , एके 47 गोला-बारूद के 94 राउंड, दो चीनी पिस्तौल, दो चीनी पिस्तौल के मैग्जाईन्स , पिस्तौल गोला बारूद के आठ राउंड, पांच यूबीजीएल ग्रेनेड, केनवुड रेडियो सेट और तीन रेडियो सेट एंटीना बरामद हुआ |

हथियारों और गोला-बारूद की भरो कैशे इस बात के साफ़ संकेत दे रहे थे कि आतंकियों के मंसूबे शांतिपूर्ण क्षेत्र में अशांति फैलाना था जिसे सुरक्षा बालों ने किसी भी संभावित अप्रिय घटना को विफल कर दिया है | पीर पंजाल रेंज के दक्षिण में शांति और सौहार्द की कोशिश करने के लिए उग्रवादी संगठनों की नापाक योजना को भी विफल कर दिया है।

यह ऑपरेशन पीर पंजाल रेंज के दक्षिण में शांति सुनिश्चित करने के लिए भारतीय सेना और जम्मू-कश्मीर पुलिस के बीच तालमेल और समन्वय का एक निरंतर प्रदर्शन है।

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *