लखनऊ. योगी सरकार (Yogi Government) कैबिनेट में महत्वपूर्ण फेरबदल (Cabinet Expansion) करने की तैयारी है. जानकारी के मुताबिक, बजट सत्र से पहले 4 फरवरी को योगी मंत्रिमंडल के विस्तार हो सकता है. आखिरी फेरबदल में योगी कैबिनेट में करीब आधा दर्जन नए चेहरे शामिल हो सकते हैं. वहीं, परफॉर्मेंस के आधार पर आधा दर्जन मंत्रियों के अधिकारों में कटौती होगी. सूत्रों की मानें तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के करीबी रहे पूर्व नौकरशाह एके शर्मा को कैबिनेट मंत्री बनाया जा सकता हैं. दरअसल, चेतन चौहान और कमला रानी वरुण की मौत के बाद 2 कैबिनेट मंत्रियों की सीट खाली हुई थी, इस सीट को भरी जाएगी.

मौजूदा कैबिनेट में शामिल कुछ को मंत्री पद से हटाकर संगठन की जिम्मेदारी दी जा सकती है. कैबिनेट विस्तार में जातीय और क्षेत्रीय समीकरणों को भी ध्यान में रखा जाएगा. गौरतलब है कि पिछले दिनों बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा भी लखनऊ पहुंचे थे. उन्होंने मंत्रिमंडल और संगठन में फेरबदल को लेकर चर्चा भी की थी. कहा जा रहा है कि एमएलसी चुनाव सम्पन्न हो चुका है, लिहाजा त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव से पहले मंत्रिमंडल विस्तार कर जातीय व क्षेत्रीय समीकरण साधने की तैयारी है. इतना ही नहीं कैबिनेट से कुछ मंत्रियों को हटाकर संगठन में भेजने की तैयारी है, ताकि पंचायत चुनाव और अगले वर्ष होने वाले विधानसभा चुनाव में सभी समीकरणों को दुरुस्त किया जा सके.

सूत्रों की मानें तो ऐसे में पार्टी के दिग्गज नेताओं को सीएम योगी आदित्यनाथ के प्रशासनिक भार को कम करने की जरूरत महसूस हो रही है, क्योंकि विधानसभा चुनाव भी करीब आ रहा है. पार्टी आलाकमान को मिले फीडबैक के आधार पर यह फैसला जल्द ही लिया जा सकता है. ऐसे में जब ये फैसला लिया जाए तो एक अहम कारण इसे भी माना जा सकता है.

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *