अलीगढ़ में चल रहे बोनेर हाईवे के निर्माण के बीच में आए एक मंदिर को प्रशासन ने ग्रामीणों की सहमति से दूसरे स्थान पर स्थापित करा दिया। डीजे व ढोल नगाड़ों की थाप पर ग्रामीणों ने पुराने मंदिर की मूर्ति नई जगह पर प्रतिष्ठित  कराईं।

गांधी पार्क थाना क्षेत्र के बोनेर से होकर गुजर रहे अलीगढ़-कानपुर हाईवे के बीच में एक मंदिर आ रहा था। यहां अंडर पास प्रस्तावित था। बिना मंदिर हटाए अंडर पास व सड़क का स्ट्रक्चर नहीं बन पा रहा था। बोनेरे के जसरथपुर गांव से सटे इस स्थान पर मंदिर हटाने का ग्रामीण विरोध कर रहे थे। नौ माह से मामला लंबित होने के बाद प्रशासन व एनएचआई ने ग्रामीणों से बातचीत की और उनके कहने पर मंदिर को दूसरे स्थान पर शिफ्ट कराया। शुक्रवार को एसडीएम कोल अनीता यादव के नेतृत्व में पुलिस प्रशासनिक अधिकारी व एनएचआई से जुड़े अधिकारी पहुंचे। वहां पर ग्रामीणों को भी बुलाया गया था। प्रशासन ने नए मंदिर के लिए बाउंड्री, स्ट्रक्चर समेत अन्य चीजों का निर्माण कराया था। वहां पर पहले हवन पूजन किया गया और फिर मूर्ति को नए मंदिर में प्रतिष्ठित कराया। ग्रामीण डीजे की धुनपुर थिरकते हुए मूर्ति को स्थापित किया। करीब दो से तीन घंटे तक कार्यक्रम चला और ग्रामीणों ने जमकर जश्न मनाया।

अब निर्माण कार्य में आएगी तेजी
मंदिर के स्थानांतरित होने से के बाद अब निर्माण कार्य में तेजी आएगी। अंडर पास का स्ट्रक्चर बनाया जाएगा और वहां पर सड़क का निर्माण हो सकेगा। एनएचआई प्रोजेक्ट मैनेजर पीपी सिंह ने बताया कि ग्रामीणों की सहमति से मंदिर स्थानांतरित हो गया। वहां  पर पुजारी के लिए कमरा, शौचालय का भी निर्माण कराया जाएगा। अनीता यादव, एसडीएम कोल बताती हैं कि बोनेर के पास हाइवे पर एक मंदिर था, जिसको ग्रामीणों की सहमति से स्थानांतरित किया गया। ग्रामीण इसमें शामिल हुए और शांति पूर्वक तरीके कार्यक्रम संपन्न हुआ। हवन यज्ञ के बाद ग्रामीणों की उपस्थिति में मूर्ति को स्थापित किया गया। वहां कुछ निर्माण और भी कराया जाएगा।

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You missed