नई दिल्‍ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम के दावोस में हो रहे समिट (WEF Summit) में कहा कि हमारी सरकार डाटा सिक्‍योरिटी के लिए सख्त कानून बना रही है.

साथ ही भारत में अब आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (AI) पर निवेश बढ़ाया जाएगा. समिट को ऑनलाइन संबोधित करते हुए उन्‍होंने कहा कि भारत ने देश में ही निर्माण गतिविधियों (Manufacturing) को बढ़ावा देने के लिए कई कदम उठाए हैं. इसी क्रम में नई मैन्युफैक्चरिंग कंपनियों के लिए कॉरपोरेट टैक्स 15 फीसदी तक कर दिया गया है. साथ ही वस्‍तु व सेवा कर की दरों (GST Rates) में भी कमी की गई है.

भारत के इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर को होगी 4.5 ट्रिलियन डॉलर की दरकार
पीएम मोदी ने कहा कि श्रम कानूनों में सुधार के साथ ही कंपनी कानून में कई बिंदुओं को कम किया गया है. उन्‍होंने कहा कि 2040 तक भारत के इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर के लिए करीब 4.5 ट्रिलियन डॉलर की जरूरत होगी. सरकार और इंडस्‍ट्रीज को यह लक्ष्य मिलकर हासिल करना होगा. इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट सरकार की बड़ी प्राथमिकताओं में एक है. भारत में सड़क और रेल नेटवर्क को लगातार बढ़ाया जा रहा है. हमारा आत्मनिर्भर भारत अभियान विश्व को आपूर्ति देने के लिए प्रतिबद्ध है. हम अपने 130 करोड़ नागरिकों को यूनिक हेल्थ आईडी देने का कम शुरू कर रहे हैं. इससे नागरिकों को आसानी से स्वास्थ्य सेवाएं मिल सकेंगी.

आत्‍मनिर्भर भारत अभियान को इंडस्‍ट्रीज का मिला पूरा सहयोग

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि भारतीय अर्थव्यवस्था की क्षमता बढ़ाने के लिए आत्मनिर्भर भारत अभियान शुरू किया है. हमने कई बड़े सुधार किए हैं. आत्मनिर्भर भारत को उद्योगों का समर्थन भी मिल रहा है. कोरोना संकट के बीच उठाए गए कदमों का जिक्र करते हुए उन्‍होंने कहा कि हम उन देशों में रहे, जिन्होंने सबसे ज्यादा जिंदगी बचाने में सफलता हासिल की. अब हम एक्टिव केसों की संख्या कम कर रहे हैं. हमने कोविड-19 से लड़ने के लिए दूसरे देशों की भी मदद की और कोरोना टेस्‍ट किट्स बनाईं. अब हम देश के 30 करोड़ स्वास्थ्यकर्मियों का वैक्‍सीनेशन करा रहे हैं. हम 12 दिनों में करीब 22 लाख लोगों को वैक्‍सीन का पहला डोज दे चुके हैं. इससे पहले करीब 1.8 खरब रुपये लाभार्थियों के बैंक खातों में भेजे गए.

जल्‍द ही दुनिया को मिलेंगी भारत में बनाई गई दोनों वैक्‍सीन

‘पीएम मोदी ने कहा कि जब पूरी दुनिया ने अपना हवाई क्षेत्र बंद कर दिया था, तब हम अपने नागरिकों को दूसरे देशों से वापस लाए. हमने दुनिया को दिखाया कि कैसे आयुर्वेद के जरिये रोगों से लड़ने की शक्ति में इजाफा हो सकता है. आज हमारे पास भारत में तैयार 2 कोरोना वैक्सीन हैं. हमारी यह वैक्सीन जल्द ही पूरी दुनिया के लिए उपलब्ध होंगी. जल्‍द ही हम कई और वैक्‍सीन तैयार करने वाले हैं. हमने अभी तक करीब 150 देशों को दवाई उपलब्ध कराई हैं.

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *