प्रयागराज. उत्तर प्रदेश के प्रयागराज (Prayagraj) में LGBT (लेस्बियन, गे, बाइसैक्सुअल, ट्रांसजैंडर) वेबसाइट के जरिए दोस्ती कर ऑनलाइन ठगी करने का नये तरीके का आपराधिक मामला सामने आया है. आईजी रेंज कार्यालय में खोले गए साइबर क्राइम पुलिस थाना (Cyber Crime Police Station) ने ठगी करने वाले एक अभियुक्त को गिरफ्तार कर इस नए तरीके के अपराध का पर्दाफाश किया है. साइबर थाना पुलिस ने आरोपी के पास से ऑनलाइन ट्रांसफर की गई रकम और उस रकम से की गई खरीददारी के सामान को मिलाकर शत-प्रतिशत बरामदगी का भी दावा किया है. पुलिस ने ऑनलाइन ठगी के खाते को भी तत्काल प्रभाव से सीज करा दिया है. नये तरीके के इस साइबर अपराध ने पुलिस के आला अधिकारियों के भी होश उड़ा दिए हैं. पुलिस अब इस मामले में और ज्यादा जानकारी जुटाने में लगी है.

पुलिस के अनुसार 20 साल का रजनीश यादव बेहद शातिर किस्म का साइबर अपराधी है. यह पहले होमोसेक्सुअल साइट के जरिए एकाकी जीवन व्यतीत कर रहे लोगों से सम्पर्क करता है और फिर उनके साथ संबध बनाकर उनके बैंक खातों समेत कई महत्वपूर्ण जानकारियां हासिल कर लेता है. जिसके बाद उन्हें आर्थिक रुप से नुकसान उठाना पड़ता है.

जौनपुर का रहने वाल रजनीश यादव बीए का छात्र है

प्रयागराज: पहले LGBT वेबसाइट के जरिए 'तनहा' शख्स से दोस्ती, फिर संबंध बनाकर लाखों की ऑनलाइन ठगी, जानिए पूरा मामला

प्रयागराज. उत्तर प्रदेश के प्रयागराज (Prayagraj) में LGBT (लेस्बियन, गे, बाइसैक्सुअल, ट्रांसजैंडर) वेबसाइट के जरिए दोस्ती कर ऑनलाइन ठगी करने का नये तरीके का आपराधिक मामला सामने आया है. आईजी रेंज कार्यालय में खोले गए साइबर क्राइम पुलिस थाना (Cyber Crime Police Station) ने ठगी करने वाले एक अभियुक्त को गिरफ्तार कर इस नए तरीके के अपराध का पर्दाफाश किया है. साइबर थाना पुलिस ने आरोपी के पास से ऑनलाइन ट्रांसफर की गई रकम और उस रकम से की गई खरीददारी के सामान को मिलाकर शत-प्रतिशत बरामदगी का भी दावा किया है. पुलिस ने ऑनलाइन ठगी के खाते को भी तत्काल प्रभाव से सीज करा दिया है. नये तरीके के इस साइबर अपराध ने पुलिस के आला अधिकारियों के भी होश उड़ा दिए हैं. पुलिस अब इस मामले में और ज्यादा जानकारी जुटाने में लगी है.

पुलिस के अनुसार 20 साल का रजनीश यादव बेहद शातिर किस्म का साइबर अपराधी है. यह पहले होमोसेक्सुअल साइट के जरिए एकाकी जीवन व्यतीत कर रहे लोगों से सम्पर्क करता है और फिर उनके साथ संबध बनाकर उनके बैंक खातों समेत कई महत्वपूर्ण जानकारियां हासिल कर लेता है. जिसके बाद उन्हें आर्थिक रुप से नुकसान उठाना पड़ता है.

जौनपुर का रहने वाला रजनीश यादव बीए का छात्र है

जौनपुर जिले के बक्शा थाना क्षेत्र का रहने वाला साइबर क्राइम का ये आरोपी रजनीश यादव बीए प्रथम वर्ष का छात्र है. ये फेसबुक के जरिए होमोसेक्सुअल साइट “प्लैनेट रोमियो” के सम्पर्क में आया और यहीं से इसने लोगों को शिकार बनाना शुरू कर दिया. हाल के दिनों में प्रयागराज के झूंसी इलाके के राजीव श्रीवास्तव से इसी वेबसाइट के जरिए इसने सम्पर्क किया. 24 दिसम्बर 2020 को उनके घर गया और दो दिनों तक घर में ही रुका. इस दौरान उसने उनके साथ संबन्ध भी बनाया. जिसके बाद उसने तकनीक का सहारा लेकर उनके बैंक खाते, क्रेडिट और डेविड कार्ड के साथ ही पासबुक की जानकारी हासिल कर ली. इसके साथ ही फोन से एक सिम भी उड़ा लिया और गायब हो गया.

साढ़े 3 लाख से ज्यादा की रकम उड़ाई

फिर इसी सिम के जरिए यूपीआई कोड जनरेट कर मोबाइल फोन के जरिए ऑनलाइन 3 लाख 63 हजार 849 रुपये अपने खाते में ट्रांसफर कर फरार हो गया. इस मामले की शिकायत ठगी के शिकार राजीव श्रीवास्तव की ओर से साइबर क्राइम थाने में की गई. जिसके बाद पुलिस ने धारा 419/420/406 IPC और 6/66B/66C आईटी एक्ट में मुकदमा दर्ज कर आरोपी युवक को गिरफ्तार कर लिया है.

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *