राशन कार्ड ने गजब कर डाला। संतोष सिंह ने परिवार का राशन कार्ड बनवाया तो उनकी पत्नी को उनकी बहन बना दिया और बेटे को भाई। इतना ही नहीं, संतोष की मां ही बदल गई। संतोष सिंह जन्नतुन के पुत्र बन गए। संशोधन कराने को चक्कर लगाए तो दूसरी मुसीबत आ गई। इस बार राशन कार्ड ने संतोष को गायब कर दिया।

मुख्यमंत्री से की शिकायत
संतोष की पत्नी को किसी और की ही पत्नी बना दिया और दो अजनबियों को उनकी संतान। चकराए संतोष ने इसकी शिकायत मुख्यमंत्री से की है। उधर, अफसर कह रहे हैं कि सॉफ्टवेयर की गलती है।

सीएम से सांसद से सांसद तक लगाई गुहार
होमगार्ड संतोष सिंह ने राशन पाने और कार्ड सुधरवानी के लिए 10 महीने में कोई चौखट नहीं छोड़ी। वह डीएम, राशन कार्यालय और सांसद सत्यदेव पचौरी तक गुहार लगा चुका है। सभी ने आश्वासन दिया फिर भी उसका राशन कार्ड ठीक नहीं किया गया।

सॉफ्टवेयर की कमी की वजह से राशन कार्ड में फीड की जा रही जानकारियां अपडेट नहीं हो पा रही हैं। बार-बार नाम अन्य कार्ड में जुड़ रहे हैं। 1 जनवरी 2020 से एक देश एक राशन कार्ड की योजना आई है। अगर इनके नाम का कहीं और राशन कार्ड बना होगा तो दिक्कत आएगी। शिकायत पर जांच कराई जा रही है। 

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *