दिल्ली पुलिस ने रविवार को दावा किया है कि दिल्ली में प्रस्तावित किसानों की ट्रैक्टर रैली को बाधित करने के लिए पाकिस्तान से क़रीब 300 ट्विटर हैंडल बनाए गए हैं.

समाचार एजेंसी के अनुसार प्रस्तावित ट्रैक्टर रैली की योजना के बारे में बताते हुए एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में दिल्ली के विशेष पुलिस आयुक्त (ख़ुफ़िया विभाग) दीपेंद्र पाठक ने कहा कि गणतंत्र दिवस परेड के ख़त्म होने के बाद कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच ये रैली मंगलवार को आयोजित की जाएगी.

उन्होंने कहा,“किसानों की ट्रैक्टर रैली के बारे में भ्रम फैला कर उसे बाधित करने के लिए जनवरी 13 से 18 के बीच पाकिस्तान से क़रीब तीन सौ ट्विटर हैंडल बनाए गए हैं. कई एजेंसियों ने इस तरह की जानकारी दी है. हमारे लिए इस रैली का आयोजन बेहद चुनौतीपूर्ण है लेकिन गणतंत्र दिवस समारोह के ख़त्म होने के बाद चाक चौबंद सुरक्षा व्यवस्था के बीच ट्रैक्टर रैली होगी.”

उन्होंने कहा कि किसान 26 जनवरी को ही रैली निकालना चाहते हैं इसलिए हमने उन्हें गणतंत्र दिवस परेड के बाद का वक्त दिया है और उन्हें क़रीब 170 किलोमीटर के तीन रूट भी सुझाए हैं. रैली के लिए पुलिस बैरिकेडिंग हटाएगी और किसानों को राष्ट्रीय राजधानी में प्रवेश करने देगी. उचित दूरी तक रैली निकालने के बाद किसान लौट जाएंगे.

पाठक ने कहा,“ये रैली सिंघु बॉर्डर से निकलेगी जहां किसानों का धरना प्रदर्शन जारी है. संजय गांधी ट्रांसपोर्ट नगर से होती हुई ये रैली कंझावाला, बवाना, औचंदी बोरर, कुंडली-मानेसर-पलवल एक्सप्रेसवे तक जाएगी और फिर वहां से किसान सिंघु बॉर्डर लौटेंगे.”

“टिकरी बॉर्डर से निकलने वाली किसानों की रैली नांगलोई, नजफगढ़, झड़ोदा से होते हुए कुंडली-मानेसर-पलवल एक्सप्रेसवे पर ख़त्म होगी.”

वहां गाज़ीपुर से निकलने वाली रैली अप्सरा बॉर्डर से होते हुए हापुड़ रोड, कुंडली-मानेसर-पलवल एक्सप्रेसवे से होते हुए गाज़ीपुर में ख़त्म होगी.

पाठक ने कहा कि किसानों से आश्वस्त किया है कि रैली के ख़त्म होने के बाद वो शांतिपूर्ण तरीके से अपनी-अपनी जगहों पर लौट जाएंगे.

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *