सुप्रीम कोर्ट ने मिर्जापुर वेब सीरीज के निर्माताओं और अमेजन प्राइव वीडियो को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है। शीर्ष अदालत ने यूपी के मिर्जापुर जिले की गलत तस्वीर पेश करने के आरोप पर मेकर्स और प्रोड्यूसर्स को नोटिस जारी किया है। इसके अलावा इसे प्रसारित करने वाले ओटीटी प्लेटफॉर्म अमेजन प्राइम वीडियो को भी तलब किया गया है। दरअसल इस वेब सीरीज के खिलाफ यह कहते हुए सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की गई थी कि इसमें जिले का गलत चित्रण किया गया है और इससे छवि खराब हुई है। पिछले दिनों सुप्रीम कोर्ट में मेकर्स के खिलाफ यह कहते हुए अर्जी दी गई थी कि इस वेब सीरीज में हकीकत से परे चीजें दिखाई गई हैं और मिर्जापुर की छवि ऐसी नहीं है, जैसा दिखाया गया है।

हाल ही में एक ऐसा केस भी सामने आया था, जिसमें युवक को इंटरव्यू से अपमानित करके निकाल दिया गया था क्योंकि वह मिर्जापुर जिले का रहने वाला था। हाल ही में रिलीज हुई तांडव वेब सीरीज पर विवाद छिड़ने के बाद से मिर्जापुर का मामला एक बार फिर से उभर गया है। बता दें कि तांडव के अलावा मिर्जापुर वेब सीरीज के भी दोनों सीजन अमेजन प्राइम वीडियो पर ही रिलीज हुए हैं। इस सीरीज में मिर्जापुर जिले की राजनीति में हिंसा के प्रभाव को दिखाया गया है। एक्टर पंकज त्रिपाठी, अली फजल, दिव्येंदु शर्मा, श्वेता त्रिपाठी इस वेब सीरीज की स्टार कास्ट का हिस्सा रहे हैं।

बता दें कि तांडव वेब सीरीज में हिंदू देवताओं पर कथित आपत्तिजनक टिप्पणियों के खिलाफ ऐतराज जताया गया था। वेब सीरीज पर सोशल मीडिया पर आपत्तियां जताए जाने के बाद सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय की ओर से मेकर्स को नोटिस जारी किया गया था। इस वेब सीरीज के डायरेक्टर अली अब्बास जफर ने माफी मांगी थी। यही नहीं अब इस वेब सीरीज से उन सीन्स को हटा भी दिया गया है, जिन्हें लेकर आपत्ति जताई गई थी। 

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You missed