महाराष्ट्र के पुणे में स्थित सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (एसआईआई) के टर्मिनल एक गेट में गुरुवार को आग लगने से 5 लोगों की मौत हो गई। वहीं दमकल की 15 गाड़ियां रेस्क्यू के लिए अब भी मौजूद हैं। हालांकि आग पर अब काबू पा लिया गया है। आग की घटना पर मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा कि शुरुआती तौर पर ऐसा प्रतीत होता है कि आग किसी बिजली की गड़बड़ी के चलते लगी होगी। हालांकि वैक्सीन अब भी सुरक्षित है।

जानकारी के अनुसार, पुणे के मंजरी में स्थित एसआईआई के नए प्लांट में आग लगी । 300 करोड़ की लागत से बने इस प्लांट में बड़े पैमाने पर कोरोना की वैक्सीन कोविशील्ड का उत्पादन किए जाने की योजना है। पिछले साल ही केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन ने इस प्लांट का उद्घाटन किया था।हालांकि इस प्लांट में अभी वैक्सीन का उत्पादन शुरू नहीं हुआ है।

इस घटना के बाद सीरम के सीईओ अदार पूनावाला का बयान भी सामने आया है। उन्होंने कहा कि चिंता और प्रार्थनाओं के लिए सभी को धन्यवाद। अब तक की सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि आग लगने से कोई जनहानि या बड़ी क्षति नहीं हुई है, हालांकि कुछ मंजिलों को नुकसान पहुंचा है।

पूनावाला ने कहा कि मैं सरकार और सभी जनता को आश्वस्त करना चाहता हूं कि कई उत्पादन भवन होने के कारण कोविशील्ड के उत्पादन पर कोई प्रभाव नहीं होने वाला है। इस तरह की घटनाओं से निपटने के लिए हम पूरी कोशिश करेंगे। उन्होंने पुणे पुलिस और फायर डिपार्टमेंट का शुक्रिया अदा किया।

वहीं महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने बताया कि आग पर पूरी तरह से काबू पा लिया गया है। किसी भी तरह के जान-माल के नुकसान की खबर नहीं है। उन्होंने कहा कि आग वैक्सीन यूनिट में नहीं लगी। उपमुख्यमंत्री अजित पवार ने जांच के आदेश दिए हैं।

आग लगने की जानकारी मिलने पर दमकल के साथ एनडीआरएफ की एक टीम को भी रवाना किया गया था। प्लांट के ऊपर दूर से ही धुएं का काला गुबार दिखाई दे रहा था। पांच मंजिला इस प्लांट में कुछ दिनों में वैक्सीन का उत्पादन शुरू होने वाला था।

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You missed