रेप के आरोप का सामना करते रहे महाराष्ट्र के मंत्री और एनसीपी नेता धनंजय मुंडे की कुर्सी खतरे में पड़ गई है। मुंडे ने गुरुवार को एनसीपी प्रमुख शरद पवार से मुलाकात की। इसके बाद शरद पवार ने कहा है कि धनंजय मुंडे पर जो आरोप लगे हैं, वे गंभीर हैं और पार्टी उन पर कार्रवाई के बारे में जल्द फैसला लेगी। एनसीपी प्रमुख ने आगे कहा कि मुंडे ने मुझसे मुलाकात की थी और मुझे उन्होंने अपने ऊपर लगे आरोप के बारे में बताया। उन्होंने बताया कि वे एक महिला के साथ करीबी रिलेशनशिप में थे और उसने ही बाद में आरोप लगाए। उनके खिलाफ एक शिकायत दर्ज की गई थी और जांच शुरू होने की उम्मीद है। उन्हें इस आरोप का अंदाजा पहले से ही था, जिसकी वजह से इस मामले में हाईकोर्ट से संपर्क किया था।

मुलाकात करने के बाद मुंडे ने बताया कि मुझ पर लगे आरोप के सिलसिले में मैंने शरद पवार और पार्टी के सामने अपनी सफाई पेश की है। मैंने उन्हें सबकुछ बता दिया है। जो भी पार्टी और शरद पवार फैसला करेंगे, मैं वैसा ही करूंगा। वहीं, एनसीपी प्रवक्ता नवाब मलिक ने कहा कि चूंकि महिला ने मामला दर्ज करवा दिया है, इसलिए उनकी पार्टी जांच होने तक इंतजार करेगी। मलिक ने कहा, ”हम पहले आधिकारिक रिपोर्ट का इंतजार करेंगे और फिर फैसला करेंगे कि आगे क्या करना है।” 

दूसरी तरफ, महाराष्ट्र की विपक्षी पार्टी बीजेपी ने इस मामले की चुनाव आयोग में शिकायत की है क्योंकि रेप के आरोप पर सफाई देते हुए मुंडे ने कहा कि मैंने कोई बलात्कार नहीं किया है, बल्कि दोनों की सहमति से संबंध  था और इससे दो बच्चे भी हुए। बीजेपी का कहना है कि मुंडे ने खुद स्वीकार किया है कि उनकी दो बीवियां हैं, जबकि उन्होंने चुनाव आयोग को दूसरी बीवी और बच्चों की जानकारी नहीं दी। 

गौरतलब है कि धनंजय मुंडे पर एक सिंगर का सालों तक यौन उत्पीड़न एवं बलात्कार करने के आरोप में ओशिवारा थाने में शिकायत दर्ज कराई गई है। इसके बाद मुंडे ने एक बयान जारी करके कहा कि शिकायत करने वाली महिला की बड़ी बहन के साथ वर्ष 2003 से आपसी सहमति से संबंध थे। उन्होंने बयान में कहा कि इस बारे में मेरे परिवार को भी पता है और इस संबंध से पैदा हुए दो बच्चों को मैंने अपना नाम देने के साथ ही उनकी जिम्मेदारी भी उठा रहा हूं। मुंडे ने कहा कि अब मुझे ब्लैकमेल किया जा रहा है।

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *