पहाड़ी राज्यों से आ रही बर्फीली हवाओं ने फिर दिल्ली एनसीआर को शीतलहर की चपेट में ले लिया और तापमान में गिरावट दर्ज की गई। मौसम विभाग का अनुमान है कि आने वाले कुछ दिनों में भी दिल्ली एनसीआर के कुछ हिस्सों में शीतलहर की स्थिति रहेगी।

पश्चिमी विक्षोभ के चलते बीते लगभग 10 दिनों से न्यूनतम और अधिकतम तापमान में इजाफा दर्ज किया जा रहा था। लेकिन, पश्चिमी विक्षोभ का प्रभाव समाप्त होने के साथ ही अब आसमान पूरी तरह साफ है और हवा की दिशा उत्तरी-पश्चिमी यानी हिमपात वाले इलाके की तरफ से हो गई है। इसके चलते राजधानी दिल्ली के तापमान में तेजी से गिरावट दर्ज की गई है।

दिल्ली के सफदरजंग में सुबह न्यूनतम तापमान 4.3 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया जो कि सामान्य से तीन डिग्री कम है। जबकि, अधिकतम तापमान 17.6 डिग्री सेल्सियस रहा जो कि सामान्य से दो डिग्री कम है। दिल्ली के जफरपुर में न्यूनतम तापमान 3.7 और लोधी रोड में 4.0 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया। न्यूनतम तापमान चार डिग्री या उससे कम होने पर उसे शीतलहर की स्थिति मानी जाती है। इस तरह से इन दोनों ही इलाकों में मंगलवार की सुबह शीतलहर जैसी स्थिति रही।

कड़ाके की ठंड और घने कोहरे के आसार
प्रादेशिक मौसम पूर्वानुमान केन्द्र के प्रमुख डॉ. कुलदीप श्रीवास्तव के मुताबिक अगले तीन दिनों तक कड़ाके की ठंड रहने के आसार हैं। उत्तरी-पश्चिमी हवाओं और खुले आसमान के चलते गलन वाली ठंड रहेगी। जबकि, मौसम में मौजूद नमी के चलते सुबह के समय घने कोहरे का सामना भी करना पड़ सकता है।

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *