दिल्ली सरकार ने बुधवार को राष्ट्रीय राजधानी के सभी सरकारी और प्राइवेट स्कूलों के 10वीं और 12वीं के बोर्ड क्लासों के स्टूडेंट्स को स्कूल बुलाने की अनुमति दे दी है।। इसके लिए शिक्षा निदेशालय का आदेश जारी हो गया है। स्कूल इन स्टूडेंट्स को प्री बोर्ड की तैयारी और प्रैक्टिकल वर्क के लिए बुला सकते हैं। 10वीं व 12वीं के बच्चे अभिभावकों की मंजूरी के बाद स्कूल आ सकेंगे। इसके अलावा कोविड-19 से जुड़ी हर गाइडलाइंस का पालन किया जाएगा।

सभी स्कूलों को शिक्षा निदेशालय ने एक सरकुलर जारी किया है। इस आदेश में कहा गया है कि प्री बोर्ड की तैयारी और प्रैक्टिकल वर्क के लिए सरकारी और सहायता प्राप्त स्कूलों के हेड स्टूडेंट्स को 18 जनवरा 2021 से स्कूल बुला सकते हैं। सरकुलर में यह भी लिखा है कि बच्चे को अभिभावकों की मंजूरी के बाद ही बुलाया जाएगा और बच्चे के स्कूल आने पर कोविड-19 से बचाव के लिए सभी बातों का ध्यान रखा जाएगा।

आपको बता दें कि महामारी से बचाव के लिए राजधानी में पिछले साल मार्च से स्कूल बंद है। इन 10 महीनों में यह पहली बार है जब राष्ट्रीय राजधानी में बच्चे कैंपस में आएंगे।

इस साल 12वीं की प्री बोर्ड परीक्षाएं 3 मार्च से 15 अप्रैल के बीच आयोजित की जाएंगी। वहीं 10वीं क्लास की प्री बोर्ड परीक्षाएं 1 अप्रैल से 15 अप्रैल के बीच आयोजित की जाएंगी। सीबीएसई की बोर्ड परीक्षाएं 3 मई से 10 जून के बीच आय़ोजित की जाएंगी। इससे पहले जनवरी के पहले सप्ताह में  दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा था कि वो इस बात पर विचार कर रहे हैं कि फिर से स्कूलों को जल्दी कैसे खोला जाए, खासकर बोर्ड परीक्षा कक्षाओं के लिए। वहीं नवंबर के अंतिम सप्ताह में दिल्ली के शिक्षा मंत्री ने कहा था कि जब तक वैक्सीन नहीं आती है तब तक स्कूल नहीं खुलेंगे। 

आपको बता दें कि अन्य राज्यों में भी स्कूल खुल गए हैं। बिहार में 4 जनवरी से स्कूल खोल दिए गए हैं। ओडिशा ने 8 जनवरी से 10वीं 12वीं के विद्यार्थियों के लिए स्कूल खोलने की इजाजत दे दी थी। राजस्थान सरकार ने राज्य में 9वीं से 12वीं तक की कक्षाएं, विश्वविद्यालय, महाविद्यालय की अंतिम वर्ष की कक्षाओं, कोंचिंग सेंटर और सरकारी प्रशिक्षण संस्थानों को 18 जनवरी 2021 से खोलने के निर्देश दिए हैं।

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *