कोविड-19 से बचाव के उपायों, तैयारियों और नवीनतम अपडेट्स को लेकर स्वास्थ्य मंत्रालय ने मंगलवार को प्रेस वार्ता की। इस दौरान स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने कहा- सरकार ने पुणे के सीरम इंस्टीट्यूट को 1 करोड़ 10 लाख डोज के ऑर्डर दे दिए हैं। इधर सीरम की वैक्सीन कोविशील्ड की पहली खेप देश के अलग-अलग शहरों में पहुंचने भी लगी है। वैक्सीन के 54 लाख 72 हजार डोज आज देशभर में पहुंच गए हैं। 14 जनवरी तक 100% वैक्सीन पहुंच जाएगी। ग़ौरतलब हो कोरोना वायरस की महामारी से निपटने के लिए देश में 16 जनवरी से वैक्सीनेशन शुरू होने वाला है।

दुनिया में कोविड के हालात अभी भी चिंताजनक

स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने यह भी कहा कि दुनिया में कोविड के हालात अभी भी चिंताजनक बने हुए हैं। अमेरिका, ब्रिटेन, ब्राज़ील, रूस, और साउथ अफ्रीका में मामले बढ़ रहे हैं। हालांकि भारत में कोरोना संक्रमण के मामले घट रहे हैं लेकिन सावधानी बरतने की ज़रूरत है।

भारत में कोरोना पड़ा कमजोर, अन्य देशों की तुलना में कम मामले

स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक भारत में बीते 24 घंटे में कोरोना संक्रमण के 12 हजार से कम मामले सामने आए हैं। यह संख्या विश्व के अन्य देशों की तुलना में कम है और यह 30 जून के बाद सबसे कम एक्टिव मामले हैं। उन्होंने यह भी बताया कि भारत में कोरोना के कुल मामले 1 करोड़ से अधिक है। अब तक 18 करोड़ (कुल 18,26,52,887) से अधिक लोगों की कोरोना जांच हो चुकी है।

कुल एक्टिव मामलों के 54% केस केवल दो राज्यों में

स्वास्थ्य सचिव ने बताया कि कुल एक्टिव मामलों के 54% केस केवल दो राज्यों में ही हैं। केरल में 63,547 और महाराष्ट्र में 53,463 कोरोना के एक्टिव केस हैं। उन्होंने बताया कि देश में दो वैक्सीन को अनुमति दे दी गई है जबकि चार अन्य वैक्सीन का निर्माण भारत में किया जा रहा है। उपयोग के लिए ये वैक्सीन भी शीघ्र ही उपलब्ध होंगी।

Zydus कैडला नामक वैक्सीन का तीसरे चरण का परीक्षण चल रहा है, वहीं स्पुतनिक वैक्सीन का दूसरे और तीसरे चरण का परीक्षण जारी है। फ़ाइज़र की वैक्सीन का मूल्य 1431 रुपए है। वहीं, मॉडर्ना वैक्सीन की कीमत प्रति डोज 2348 से 2715 रुपए है। कोवैक्सीन के 55 लाख डोज खरीदे जाएंगे।

टीकाकरण की तैयारी

टीकाकरण दल में पांच सदस्य होंगे। एक वैक्सीनेटर और चार अन्य सदस्य होंगे। सबसे पहले स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं को वैक्सीन दिया जाएगा। टीकाकरण में होने वाला व्यय केंद्र सरकार वहन करेगी। वैक्सीन के 54 लाख 72 हजार डोज आज पहुंच गए हैं। 14 जनवरी तक 100% वैक्सीन पहुंच जाएगी। वैक्सीन के दो खुराक के मध्य 28 दिनों का अंतर होगा। दोनों खुराक देने के बाद ही वैक्सीन का प्रभाव दिखेगा।

प्रत्येक राज्य में एक राज्य स्तरीय वैक्सीन स्टोर है। उत्तर प्रदेश में 9, मध्य प्रदेश और गुजरात में 4, केरल में 3, जम्मू-कश्मीर, कर्नाटक और राजस्थान में 2 स्टोर हैं। प्रेस वार्ता के दौरान नीति आयोग के अधिकारी ने बताया कि एम्बुलेंस चालक से लेकर चिकित्सा अधिकारी तक सबको वैक्सीन दिया जाएगा। भारतीय चिकित्सा परिषद ने वैक्सीन का समर्थन किया है। वैक्सीन को लेकर किसी भी तरह का संदेह नहीं होना चाहिए। वैक्सीन बहुत कारगर है।

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *