यूपी विधानसभा चुनाव में छोटे दलों के साथ गठबंधन की घोषणा कर चुके एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी मंगलवार को पूर्वांचल के दौरे पहुंचे। वाराणसी एयरपोर्ट पर उनसे मिलने के लिए कार्यकर्ताओं में होड़ मच गई। इस दौरान काफी देर तक अफरातफरी का माहौल हो गया। बाद में ओवैसी ने कहा कि यूपी में जब अखिलेश यादव की सरकार थी तो मुझे 12 बार पूर्वांचल आने से रोका गया। इस बार आ गया हूं। अब ओमप्रकाश राजभर के साथ गठबंधन किया है, मैं दोस्ती निभाने आया हूं। हम दोनाें यूपी में टक्कर देंगे। 

बता दें कि पूर्वांचल पर ओवैसी के साथ सुभासपा प्रमुख ओम प्रकाश राजभर भी होंगे। दोनों नेता इस दौरान चार जिलों का तूफानी दौरा करेंगे। इस दौरे को यूपी में होने वाले पंचायत चुनाव से जोड़कर देखा जा रहा है। ओमप्रकाश राजभर पहले ही पंचायत चुनाव को मजबूती से लड़ने की बात कह चुके हैं। दोनों नेताओं का वाराणसी, जौनपुर, आजमगढ़ और मऊ जाने का कार्यक्रम है। संयोग से मंगलवार को सपा प्रमुख अखिलेश यादव भी जौनपुर आ रहे हैं। पिछली बार सुभासपा ने भाजपा के साथ मिलकर विधानसभा चुनाव लड़ा था। ओमप्रकाश राजभर कैबिनेट मंत्री भी बने थे। बाद में कई मुद्दों पर रार के बाद ओमप्रकाश को बर्खास्त कर दिया गया था। इसके बाद से सुभासपा पूर्वांचल में अपनी जमीन मजबूत करने में जुटी है। इसी को देखते हुए भागीदारी संकल्प मोर्चा में ओवैसी की पार्टी को जोड़ा गया है। 

यह है ओवैसी का कार्यक्रम : 

ओवैसी सबसे पहले वाराणसी पहुंचे। यहां से जौनपुर जाएंगे। इसके बाद आजमगढ़ और मऊ जिले में कई आयोजनों में हिस्‍सा लेंगे। जौनपुर में जहां जगह जगह पार्टी कार्यकर्ता अपने नेताओं का स्‍वागत करेंगे वहीं दोनों नेता ठहरकर कार्यकर्ताओं को संबोधित भी करेंगे। ओवैसी और ओम प्रकाश राजभर पूरे समय एक साथ मौजूद रहेंगे। दोपहर में भोजन के बाद उनका काफिला सरायमीर होते हुए वापस बाबतपुर एयरपोर्ट निकल जाएगा। जिलाध्यक्ष ने बताया कि पार्टी प्रमुख का स्वागत किया जाएगा। इस दौरान उनसे पार्टी की मजबूती और आगामी चुनाव के मद्देनजर बातचीत भी होगी। ओवैसी के वाराणसी और फिर ओम प्रकाश राजभर के साथ आजमगढ़, मऊ व जौनपुर जिलों में कार्यकर्ताओं के साथ बैठकें व कुछ सभाएं भी करेंगे। 

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *