ग्रेटर नोएडा की औद्योगिक साइट फाइव में रविवार की देर रात जहरीली शराब बनाने वाली फैक्ट्री पकड़ी गई है। फैक्ट्री में दो लाशें से भी मिली हैं। जिनमें से एक बुलंदशहर के जहरीली शराब कांड का आरोपी भी है। दूसरी लाश उसके सहयोगी की है। बुलंदशहर पुलिस ने यहां छापा मारा, जिसके बाद खुलासा हुआ। इस फैक्ट्री से 36 पेटी शराब भी जब्त की गई है।

ग्रेटर नोएडा के पुलिस उपायुक्त राजेश कुमार सिंह ने बताया कि बुलंदशहर पुलिस ने सूचना दी थी। जिसके आधार पर संयुक्त कार्रवाई की गई। यूपीएसआईडीसी की साइट फाइव में प्लॉट नंबर ए-3/13 में यह फैक्ट्री चल रही थी। पुलिस फैक्ट्री में दाखिल हुई तो वहां 2 लाश मिली हैं। लाशों की पहचान कर ली गई है। एक शव बुलंदशहर में कोतवाली देहात क्षेत्र के गांव ऊंचा नगर के रहने वाले प्रदीप का है। प्रदीप बुलंदशहर में जहरीली शराब पीकर मरने वाले 6 लोगों से जुड़े मामले में अभियुक्त था। दूसरा व्यक्ति प्रदीप का सहयोगी संतोष था। वह बुलंदशहर में ही अगौता थाना क्षेत्र के गंगावली गांव का रहने वाला था। डीसीपी ने बताया कि फैक्ट्री से 36 पेटी शराब जब्त की गई है। इसकी जांच के लिए नमूने प्रयोगशाला भेजे जा रहे हैं।

बुलंदशहर कांड के बाद शराब यहां लाकर छिपाई गई: डीसीपी
डीसीपी राजेश कुमार सिंह ने कहा, “यहां इन लोगों ने करीब एक सप्ताह पहले ही शिफ्ट किया है। हमें नहीं लगता कि बुलंदशहर में भेजी गई जहरीली शराब यहां बनाई गई थी। प्रारंभिक रूप से जांच में यह बात सामने आ रही है कि बुलंदशहर में जहरीली शराब पीने के बाद लोगों की मौत हुई। अभियुक्तों ने वहां से शराब लाकर यहां छिपाकर रखी थी। जो दो लोग यहां मरे हैं, उन्होंने भी यही शराब पी होगी। दोनों शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद मौत की वजह सामने आ जाएगी।

25 हजार रुपये महीना किराए पर ली थी फैक्ट्री
ग्रेटर नोएडा के डीसीपी ने बताया, “हम तेजी से छानबीन कर रहे हैं। इन लोगों ने साइट फाइव की फैक्ट्री 25000 रुपये महीना किराए पर ली थी। ग्रेटर नोएडा के सेक्टर बीटा-2 में ही रहने वाले प्रॉपर्टी डीलर नीरज और दिल्ली के प्रॉपर्टी डीलर सुबोध त्यागी के माध्यम से फैक्ट्री किराए पर ली गई थी। किराए का एग्रीमेंट 23 दिसंबर 2020 को करवाया गया था। ये लोग 2 जनवरी को यहां शिफ्ट हुए थे। एग्रीमेंट में कॉस्मेटिक्स का काम करने की जानकारी दर्ज करवाई गई है। इस फैक्ट्री का मालिक शाहदरा दिल्ली का आने वाला सुरेंद्र शर्मा है। डीसीपी का कहना है कि ग्रेटर नोएडा के प्रॉपर्टी डीलर नीरज से पूछताछ की जा रही है। दिल्ली से प्रॉपर्टी डीलर सुबोध त्यागी और फैक्ट्री के मालिक सुरेंद्र शर्मा को बुलाया गया है। उनसे भी पूछताछ की जाएगी।

बुलंदशहर कांड से जुड़े तार, पुलिस ने कहा शराब यहां नहीं बनी
बुलंदशहर में 8 जनवरी से जहरीली शराब पीकर लोगों की मौत शुरू हुई है। इसके बाद वहां के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने 12 पुलिस टीमों का गठन किया। जांच-पड़ताल करते हुए पुलिस ग्रेटर नोएडा तक पहुंच गई। अब गौतमबुद्ध नगर पुलिस का कहना है कि बुलंदशहर में बेची गई जहरीली शराब यहां की फैक्ट्री में नहीं बनी थी। बुलंदशहर में लोगों की मौत होने के बाद आरोपियों ने शराब यहां लाकर छिपाई होगी।

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *