उत्‍तर प्रदेश के पूर्व मुख्‍यमंत्री और समाजवादी पार्टी के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष अखिलेश यादव मिशन-2022 (यूपी विस चुनाव) के अभियान में जुुुटे हैं।  शुक्रवार  काेे उन्‍होंने धर्मनगरी चित्रकूट मेें भगवान कामतानाथ के दरबार में हाजिरी लगाई। प्रमुख द्वार पर कामतानाथ के दर्शन कर पूजा-अर्चन किया, फिर कामदगिरि की परिक्रमा पूरी की। परिक्रमा के दौरान पथ पर दुकानदारों ने उनसे मुलाकात की तो उन्होंने भरोसा दिया की दुकानों को उजड़ने नहीं दिया जाएगा।

सपा अध्‍यक्ष ने कामतानाथ प्राचीन द्वार, तृतीय मुखारबिंद, बरहा हनुमान मंदिर, भरत मिलाप समेत कई प्रमुख मंदिरों में पहुंचकर भगवान के दर्शन किए। उन्होंने धर्मनगरी के साधु-संतों से मुलाकात की। परिक्रमा के दौरान अखिलेश यादव खोही में जलेबी वाली गली के पास रुक कर वहां के लोगों से मिले। यहां के लोगों ने बताया कि उनको उजाड़ने का प्रयास किया जा रहा है, जबकि वह कई दशकों से वहीं पर रह रहे हैं और छोटी-छोटी दुकानों से परिवार चला रहे हैं।

लोगों ने बताया कि आए दिन प्रशासन उनको घर गिरवाने की धमकी दे रहा है। पूर्व मुख्यमंत्री ने उनको भरोसा दिया कि वह उनके साथ हैं, उनको किसी भी तरह घबराने की जरूरत नहीं है। अखिलेश यादव ने कहा कि अपने घरों को वह लोग कतई न खाली करें। 
अखिलेश यादव ने यहां दोहराया कि सपा सरकार ने चित्रकूट को बहुत कुछ दिया है। उनकी सरकार की योजनाएं व कार्य ही चित्रकूट में दिखाई दे रहे हैं। पूर्व मुख्यमंत्री परिक्रमा मार्ग पर कई जगह रुके। कई जगह लोगों ने उनको रोककर समस्याएं बताईं। परिक्रमा के दौरान उनके साथ पार्टी नेताओं और कार्यकर्ताओं की काफी भीड़ रही। 

बुंदेलखण्ड जीत का अभियान धर्मनगरी से
पिछले विधानसभा और लोकसभा चुनाव में बुन्देलखण्ड से साफ हो चुकी सपा को यहां फिर खड़ा करने के लिए सपा मुखिया ने धर्मनगरी से अभियान शुरू किया है। धर्मनगरी के दो दिवसीय प्रवास में अखिलेश यादव धर्म में लीन दिखे। यहां चल रहे प्रशिक्षण में 20 एक्सपर्ट कार्यकर्ताओं को चुनाव की तैयारियों के साथ जीत के टिप्स दे रहे हैं। पूरे प्रशिक्षण से मीडिया को दूर रखा गया है, कार्यकर्ताओं को चुनाव के लिए कैसे तैयार किया जा रहा है यह एकदम गोपनीय रखा गया है।

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *