देशभर में फैली बर्ड फ्लू की दहशत के बाद दिल्ली-एनसीआर में भी इसके दस्तक देने की आशंका बढ़ गई है। राजधानी दिल्ली के मयूर विहार फेस-3 स्थित सेंट्रल पार्क में 100 से अधिक कौवे मरे हुए पाए जाने के बाद हड़कंप मच गया है।

जानकारी के अनुसार, मामला संज्ञान में आते ही दिल्ली सरकार ने डॉक्टरों की एक टीम बनाकर इस घटना की जांच के आदेश दिए हैं। सरकार इस मामले पर पैनी नजर बनाए हुए है। बताया जा रहा है कि यह कोई एक दिन की घटना नहीं है, बल्कि बीते कुछ दिनों में इन कौवों की मौत हुई है। 

पशु पालन विभाग का कहना है कि बर्ड फ्लू के बारे में अभी कुछ कहा नहीं जा सकता है, संभव है कि अधिक ठंड के कारण इन कौवों की मौत हुई हो। मृत कौवों को जांच के लिए भेज दिया गया है, जांच रिपोर्ट आने के बाद ही पूरी स्थिति साफ हो सकेगी, लेकिन जिस प्रकार देश के कुछ राज्यों में बर्ड फ्लू ने दस्तक की है उसके बाद दिल्ली में संदिग्ध हालत में कौवों की मौत चिंता का विषय है। 

इसी प्रकार, एनसीआर के शहर गुरुग्राम के सेक्टर-56 स्थित बायो डायवर्सिटी पार्क में शुक्रवार को छह कौवे मरे हुए पाए गए हैं। कई दिनों से आ रही पार्क में कौवे मरने की सूचना मिल रही थी, इसके बाद वाइल्ड लाइफ एवं पशु पालन विभाग की टीम आज मामले की जांच के लिए  पार्क में पहुंची थी। मृतक कौवों के सैंपल लेने के बाद जांच के लिए जालंधर भेज दिए गए हैं।

हालांकि, गाजियाबाद में अभी कोई बर्ड फ्लू का एक भी केस सामने नहीं आया है और जिला प्रशासन की ओर से भी इसको लेकर कोई अलर्ट जारी नहीं किया गया है।

दिल्ली में अभी तक बर्ड फ्लू का कोई मामला नहीं : सिसोदिया

हालांकि, दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने गुरुवार को कहा था कि शहर में अभी तक बर्ड फ्लू का कोई मामला नहीं है और अधिकारियों को पड़ोसी राज्यों से आने वाले ‘पॉल्ट्री पक्षियों पर नजर रखने को कहा गया है ताकि संक्रमण को फैलने से रोका जा सके। उन्होंने अधिकारियों को दिल्ली के मुर्गी बाजारों में बर्ड फ्लू रोकने के लिए सख्त एहतियात बरतने और इस संबंध में तत्काल दिशा-निर्देशों को लागू करने को कहा है।

विकास विभाग की पशु पालन इकाई के साथ बैठक में सिसोदिया ने बर्ड फ्लू को रोकने के लिए दिल्ली सरकार की तैयारियों का जायजा लिया। एक बयान के अनुसार कि दिल्ली में अभी तक कोई मामला नहीं है। दिल्ली में संभावित ‘हॉट स्पॉट’ पर नजर रखने के लिए 11 क्विक रिस्पॉन्स टीमें गठित की गई हैं। सिसोदिया ने अधिकारियों को निर्देश दिया कि वे पड़ोसी राज्यों से आने वाले पक्षियों पर नजर रखें। उन्होंने मुर्गी बाजारों, जलाशयों, चिड़ियाघरों और अन्य संभावित जगहों पर नजर रखने को कहा है। इनमें गाजीपुर मछली और मुर्गी बाजार, शक्ति स्थल झील, संजय झील, भलस्वा झील, दिल्ली चिड़िया घर और डीडीए के पार्कों में बने छोटे-छोटे तालाब शामिल हैं।

केन्द्र सरकार ने बुधवार को कहा था कि हिमाचल प्रदेश, मध्य प्रदेश, राजस्थान और केरल में 12 जगहों से बर्ड फ्लू के मामले आ रहे हैं, वहीं पंचकूला के ‘पॉल्ट्री फॉर्म में बड़ी संख्या में मुर्गियों की मौत के बाद हरियाणा में भी हाई अलर्ट है। 

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *