अमेरिका में राष्ट्रपति चुनावों के नतीजों को लेकर सियासत जारी है.  डोनाल्ड ट्रंप जो बाइडन (Joe Biden) से अपनी हार मानने को तैयार नहीं हैं. वो चुनावों में लगातार धांधली के आरोप लगा रहे हैं और इलेक्टोरल प्रोसेस को प्रभावित करने की कोशिश कर रहे हैं. इस बीच डोनाल्ड ट्रंप की हरकतों से तंग आकर माइक्रो ब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म ट्विटर (Twitter) ने उनका अकाउंट 12 घंटे के लिए सस्पेंड कर दिया है. ट्विटर ने चेतावनी दी है कि अगर ट्रंप ने चुनावों को लेकर भड़काऊ बातें जारी रखीं, तो उनका अकाउंट परमानेंट ब्लॉक कर दिया जाएगा.

वहीं फेसबुक ने भी पोस्ट किया कि वह दो पॉलिसी उल्लंघन के चलते ट्रंप के पेज पर पोस्टिंग 24 घंटे के लिए प्रतिबंधित करता है.बता दें कि ट्रंप के हार मानने से इनकार के बाद उनके समर्थकों ने ट्रंप समर्थकों की भीड़ ने यूएस कैपिटल हिल बिल्डिंग के बाहर हंगामा किया. अमेरिका के प्रेसिडेंट इलेक्ट जो बाइडन (Joe Biden) ने यूएस कैपिटल हिल में ट्रंप समर्थकों के हंगामे को राजद्रोह करार दिया है.

फेसबुक ने हटाया ट्रंप का वीडियो

ट्विटर के बाद फेसबुक ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के एक वीडियो को हटा दिया. दरअसल, यूएस कैपिटल में हिंसा के दौरान ट्रंप ने अपने समर्थकों को संबोधित किया था. फेसबुक के वाइस प्रेसिडेंट ऑफ इंटीग्रिटी, गाय रोसेन ने कहा, ‘हमने ट्रंप के वीडियो को हटा दिया है क्योंकि हमारा मानना है कि ट्रंप का वीडियो जारी हिंसा के जोखिम को कम करने के बजाय योगदान दे रहा था

ट्रंप ने शांति की अपील की थी

हिंसा पर उतारू समर्थकों से ट्रंप ने शांति की अपील भी की. उन्होंने कहा, ‘मैं अमेरिकी कैपिटल में सभी से शांतिपूर्ण रहने की अपील करता हूं. हिंसा नहीं होनी चाहिए! याद रखें, हम कानून और व्यवस्था बनाए रखने वाली पार्टी हैं. कानून और महान पुरुषों व महिलाओं का सम्मान करें. धन्यवाद!

कैसे शुरू हुआ ये सब हंगामा

ये सब हंगामा ट्रंप के भाषण के बाद शुरू हुआ. बाइडन की जीत पर संसद के फाइनल फैसले से डरे ट्रंप ने पहले ही वॉशिंगटन में एक बड़ी रैली बुलाई थी. इस रैली में आए समर्थक ट्रंप के भाषण के बाद भड़क गए. ट्रंप ने सीधे-सीधे कह दिया कि अमेरिकी चुनाव में धांधली हुई है और बाइडन के वोट कंप्यूटर से आएं हैं.ट्रंप ने ये मानने से ही इनकार कर दिया कि बाइडन को 8 करोड़ वोट मिले हैं. इधर ट्रंप भाषण दे रहे थे, उधर भीड़ ट्रंप-ट्रंप के नारे लगा रही थी. इसी दौरान ट्रंप समर्थक ससंद के भीतर घुस गए. हालांकि भीड़ को देखने के बाद ट्रंप ने अपने समर्थकों से शांति बनाए रखने की अपील की, लेकिन ट्रंप की अपील सिर्फ नामभर की थी.

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *