लखनऊ. उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने किसानों की किस्‍मत चमकाने का काम करना शुरू कर दिया है. योगी आदित्‍यनाथ सरकार किसानों को तकनीक (Technique) के जरिए कृषि को आसान कर उत्‍पादन क्षमता बढ़ाने के साथ सिंचाई के लिए पर्याप्‍त जल उपलब्‍ध कराने का काम कर रही है. योगी सरकार ने नए साल में 15 सिंचाई परियोजनाएं शुरू करने जा रही है. ये सिंचाई परियोजनाएं आने वाले समय में यूपी के किसानों को राहत देंगी.

योगी सरकार कर रही है तकनीक का इस्तेमाल

योगी सरकार किसानों की कर्ज माफी हो या आय और उत्‍पादन क्षमता बढ़ाने का काम तकनीक के जरिए कर रही है.योगी सरकार राज्य के 2 करोड़ 30 लाख से अधिक किसानों को सिंचाई के लिए पर्याप्‍त पानी उपलब्‍ध कराने के साथ-साथ खेती को तकनीक से जोड़ने का काम भी तेजी से कर रही है. कृषि विश्‍वविद्यालय के सहयोग से किसानों को तकनीकी जानकारी देने के लिए तीन साल में 20 कृषि विज्ञान केंद्र स्‍थापित किए गए हैं.

कृषि से जुड़ी जानकारियां भी मिलेंगी

इनमें से कुछ केन्‍द्रों को सेंटर ऑफ एक्‍सीलेंस बनाया जा रहा है, जहां पर कृषि उत्‍पादन बढ़ाने की तकनीक पर शोध का कार्य होगा. साथ ही किसानों को वैज्ञानिक तरीके से फसल उगाने की जानकारी किसानों को दी जाएगी. इससे किसानों की आमदनी बढ़ने के साथ कृषि से जुड़ी जानकारियों में बढ़ोत्‍तरी होगी. किसान तकनीकी जानकारी हासिल करके दूसरों के लिए प्ररेणा बन सकेंगे. तकनीक के जरिए किसानों के जीवन में परिवर्तन आएगा.

यह सिंचाई परियोजनाएं देंगी बढ़ी राहत

उत्तर प्रदेश के किसानों को सिंचाई के लिए पर्याप्‍त जल उपलब्‍ध कराने के लिए कई महत्‍वपूर्ण योजनाओं का संचालन प्रदेश सरकार द्वारा किया जा रहा है. खासकर साल 2021 में सरकार की 15 परियोजनाएं किसानों के विकास की नई इबारत लिखेंगी. इसमें सरयू नहर परियोजना-2, अर्जुन सहायक परियोजना, मध्‍य गंगा द्वितीय चरण परियोजना, उमरहट पम्‍प नहर परियोजना द्वितीय चरण, रतौली वीयर परियोजना, भावनी बांध परियोजना, लखेरी बांध परियोजना, जाखलौन पम्‍प नहर पर 3.42 मेगावाट क्षमता के सोलर पावर प्‍लांट की स्‍थापना, बबीना ब्‍लाक के 15 ग्रामों को सिंचाई सुविधा परियोजना, बण्‍डई बांध के अवशेष कार्यों की परियोजना, मसगांव एवं चिल्‍ली स्प्रिंकलर सिंचाई परियोजना, शहजाद बांध स्प्रिंकलर सिंचाई परियोजना, कुलपहाड़ स्प्रिंकलर सिंचाई परियोजना, बडवार झील को गुरूसराय नहर से भरने हेतु फीडर कैनाल निर्माण परियोजना इस साल के अंत तक पूरी कर ली जाएंगी|

इसके अलावा कनहर सिंचाई परियोजना, बंदायू सिंचाई परियोजना, रामपुर में कोसी नहर प्रणाली का विस्‍तार जैसी परियोजनाएं आने वाले समय में किसानों के लिए बढ़ी राहत बनकर सामने आएंगी.

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *