यदि कोरोनवायरस आपके गले में तकलीफ का कारण बन रहा है, तो आप गरारे करने के लिए बीटाडिन सल्युशन को ट्राय करना चाहिए।कोरोनावायरस की चपेट में आने के बाद जो सबसे बड़ी समस्‍या होती है, वह है गले में तकलीफ। इस दौरान लोग तरह-तरह की सलाह देते हैं। काली मिर्च का पानी पीने से लेकर हल्दी चबाने तक।पर इस दौरान डॉक्टर बीटाडिन के साथ गरारे करने की सलाह देते हैं।

बीटाडिन से गरारे करना कैसे प्रभावी है

बीटाडिन सल्युशन के घोल में पोविडन-आयोडिन होता है, जो इसकी प्रकृति को जीवाणुरोधी और एंटीवायरल बनाता है। हम सब यह अच्छे से जान चुके हैं कि कोरोनावायरस हमारे श्वसन तंत्र पर हमला करता है। जब आप गरारे करने के लिए बीटाडिन सल्युशन का इस्तेमाल करती हैं, तो इससे आपका गला एक खिड़की की तरह काम करता है और यह सुनिश्चित करता है कि बीटाडिन सल्युशन का एंटीवायरल प्रभाव आपके सिस्टम तक पहुंच सकता है।

अमेरिकन जर्नल ऑफ प्रिवेंटिव मेडिसिन में प्रकाशित एक अध्ययन के अनुसार, पॉवीडोन-आयोडीन के घोल से गरारे करना आपके गले और श्वसन प्रणाली से रोगजनकों (pathogens) को हटाने में आपकी मदद कर सकता है। अध्ययन आपको आदर्श रूप से दिन में 3 बार गरारे करने की सलाह देता है।

क्या है सही तरीका

एक गिलास गर्म पानी लें। इसका घूंट लें और पानी के तापमान की जांच करें
गिलास में 5ml बीटाडिन के घोल को डालें और इसे अच्छी तरह मिलाएं।
इसका एक घूंट लें, अपनी गर्दन का उपयोग करके ऊपर देखें, और 10 से 15 बार गरारे करें।
इसे 4 घंटे बाद फिर से दोहराएं। अपने शरीर से कोरोनावायरस को बाहर निकालने के लिए दिन में तीन बार ऐसा करें। यह आपको खराब सांस और अन्य ओरल समस्याओं से निपटने में भी मदद करेगा।

किस समय करें

सुबह ब्रश करने के ठीक बाद
दोपहर में लंच के बाद
रात को सोने से पहले

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *