भाजपा सांसद सुशील कुमार मोदी ने कहा है कि बिहार विधानसभा चुनाव से पहले लालू प्रसाद की पार्टी अपने दर्जनभर एमएलए-एमएलसी को जदयू में जाने से नहीं रोक पाई। उसका 10 लाख लोगों को एक झटके में सरकारी नौकरी देने का अव्यवहारिक वादा नकार दिया गया। गरीबों-मजदूरों, युवाओं-महिलाओं ने जिस पार्टी के अनुभवहीन वंशवादी नेतृत्व को विपक्ष में बैठने का जनादेश दिया, उसका कोई न कोई शख्स एनडीए के विधायक तोड़ने के नित नये बड़बोले दावे कर अपनी लॉयल्टी साबित कर रहे हैं। इनमें कोई राजनीतिक सच्चाई नहीं।

शुक्रवार को जारी बयान में उन्होंने कहा कि कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने भारत से बाहर किसी अज्ञात स्थान से संदेश देकर देशवासियों को नववर्ष की बधाई दी और कहा कि उनका दिल उन किसानों के साथ है, जो ‘अन्यायी शक्तियों’ के विरुद्ध लड़ रहे हैं। इस बयान से जाहिर है कि वे दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र में 130 करोड़ लोगों की निर्वाचित सरकार को ‘अन्यायी शक्ति’ बताकर जनता का अपमान कर रहे हैं। राहुल की टिप्पणी पर कांग्रेस को माफी मांगनी चाहिए और बताना चाहिए कि यह टिप्पणी पार्टी की राय है या नहीं। इससे पहले वे किसानों के फर्जी दस्तखत वाला ज्ञापन राष्ट्रपति को सौंपने की गलती कर चुके हैं।

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *