ब्रिटेन से हाल में दिल्ली लौटे सात लोगों के नए प्रकार के कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हुई है। अधिकारियों ने गुरुवार को इसकी जानकारी दी। इससे पहले दिन में संवाददाताओं से बातचीत करते हुए दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा कि ब्रिटेन से दिल्ली आए कुल 38 लोगों के कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हुई है और उन्हें लोक नायक जयप्रकाश (एलएनजेपी) अस्पताल परिसर में अलग से संस्थागत पृथकवास में रखा गया है।

उन्होंने बताया कि चार ऐसे मरीज हैं जिनके, ब्रिटेन में मिले नए प्रकार के कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हुई है। उनके संपर्क में आए लोगों का पता लगाकर उनकी जांच की जा चुकी है और उनमें संक्रमण नहीं मिला है। इस तरह दिल्ली में वायरस के नए प्रकार से संक्रमित यही चार मरीज हैं। जैन ने कहा कि उड़ानों पर रोक लग चुकी है जो लोग पहले आ गए थे उनका पता लगाया जा रहा है और तेजी से जांच की जा रही है।

एक वरिष्ठ अधिकारी ने शाम में बताया कि ब्रिटेन से दिल्ली आए कुल सात लोगों में कोरोना के नए स्वरूप से संक्रमित होने की पुष्टि हुई है। इनमें से चार लोग दिल्ली के हैं और बाकी लोग दूसरी जगहों के हैं।

अधिकारियों ने बताया कि दिल्ली में गुरुवार को 574 लोगों में कोरोना का संक्रमण पाया गया, वहीं 13 संक्रमितों की मौत हो गई। दिल्ली में संक्रमित होने की दर कम हो कर 0.7 फीसदी रह गई है। स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी एक बुलेटिन के मुताबिक, राजधानी में कुल मामले बढ़कर 6,25,369 हो गए हैं जबकि मृतकों की संख्या 10,536 हो गई है। एक दिन पहले 81,750 से ज्यादा नमूनों की जांच की गई थी। बुलेटिन के मुताबिक, गुरुवार को एक्टिव मरीजों की संख्या 5511 है।

जैन ने कहा, ”संक्रमण की दर सात नवंबर के 15.26 प्रतिशत से गिरकर 0.7 प्रतिशत पर आ गई है। करीब 85 प्रतिशत बिस्तर खाली हैं और स्थिति में बहुत सुधार हुआ है। 

टीकाकरण की तैयारियों के बारे में उन्होंने बताया कि एक हजार टीकाकरण केंद्रों की स्थापना की गई है। जैन ने कहा कि शहर में रात्रि कर्फ्यू लगाया गया है और स्थिति अभी नियंत्रण में है, लेकिन बड़े जमावड़े के कारण फिर से दिक्कतें बढ़ सकती है। 

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *