पश्चिम बंगाल में बेशक अगले साल विधानसभा के चुनाव होने हैं लेकिन राज्य का सियासी तापमान अभी से बढ़ा हुआ है। राज्य में भाजपा और सत्ताधारी तृणमूल कांग्रेस के बीच आरोप-प्रत्यारोप का दौर देखने को मिल रहा है। इसी बीच गुरुवार को सीबीआई ने कोलकाता में तृणमूल युवा कांग्रेस के महासचिव विनय मिश्रा के ठिकानों पर छापे मारे। ये छापेमारी कथित पशु तस्करी घोटाले को लेकर की गई है।

जानकारी के अनुसार, सीबीआई की तरफ से लगातार विनय मिश्रा को नोटिस दिया गया था लेकिन उन्होंने इसे नजरअंदाज किया। मिश्रा को टीएमसी के नेता और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के भतीजे अभिषेक बनर्जी का करीबी माना जाता है। सीबीआई की टीम गुरुवार को कोलकाता में स्थित मिश्रा के ठिकानों पर पहुंची। दो ठिकानों पर पशु घोटाले और एक जगह पर कोयला चोरी मामले में छापेमारी की गई है। मिश्रा के खिलाफ लुक आउट नोटिस जारी किया गया क्योंकि वह फरार चल रहे हैं।

शुरुआती जानकारी के अनुसार, कोलकाता में विनय मिश्रा के अन्य ठिकानों पर भी छापेमारी हो सकती है। सीबीआई की कार्रवाई पर भाजपा नेता और बंगाल प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय ने प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने ट्वीट कर कहा, ‘बंगाल के एक पावर ब्रोकर विनय मिश्रा के यहां सीबीआई के छापे के बाद बंगाल के उच्च अधिकारियों की आपातकालीन बैठक और मुख्यमंत्री एवं भाइपों के यहां हलचल, प्रदेश में चर्चा का विषय है!’

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *