कोरोना काल में नए साल पर होने वाली भीड़ को लेकर सार्वजनिक स्थलों पर विशेष सख्ती बरती जाएगी। मंदिरों और गुरुद्वारों में श्रद्धालुओं को सामाजिक दूरी के साथ प्रवेश मिलेगा। मंदिरों में प्रसाद और फूल चढ़ाने पर रोक रहेगी। श्रद्धालुओं की भीड़ को व्यवस्थित करने के लिए वालंटियर के तौर पर मेडिकल और इंजीनियर के छात्र भी मोर्चा संभालेंगे। वहीं, ऐतिहासिक स्मारकों में पर्यटकों की भीड़ को देखते हुए ऑनलाइन टिकट व्यवस्था के साथ ही काउंटर भी खोले जाएंगे।

10 गुरुद्वारों में कीर्तन दरबार सजेगा

दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के सलाहकार व गुरुद्वारा बंगला साहिब के चेयरमैन परमजीत सिंह चंडोक ने बताया कि नए साल को लेकर दिल्ली में स्थित अलग-अलग 10 गुरुद्वारों में कीर्तन दरबार सजेगा। गुरुद्वारा बंगला साहिब में करीब 150 सेवादार श्रद्धालुओं के पूरे प्रबंधन को संभालेंगे। पिछले वर्ष नए साल पर गुरुद्वारे में 12 लाख के करीब श्रद्धालु पहुंचे थे। कीर्तन दरबार में श्रद्धालुओं को ज्यादा बैठने नहीं दिया जाएगा। हाथों को सेनेटाइज करने की व्यवस्था भी की गई है।

कालकाजी मंदिर में समूह में जा सकेंगे श्रद्धालु

कालकाजी मंदिर के मुख्य पुजारी संजय भारद्वाज व पुजारी सुनील सन्नी का कहना था कि नए साल पर मंदिर में बहुत भीड़ होती है। उसी के मद्देनजर पुलिस, सिविल डिफेंस कर्मी से लेकर मेडिकल व इंजीनियर के छात्र श्रद्धालुओं की भीड़ को व्यवस्थित करने में जुटेंगे। 50-50 के समूह में श्रद्धालुओं को दर्शन के लिए अंदर भेजा जाएगा। श्रद्धालुओं को कोरोना के दिशा-निर्देशों का पालन करना होगा। पिछले वर्ष नव वर्ष पर करीब चार लाख से ज्यादा श्रद्धालु मंदिर में प्रार्थना के लिए पहुंचे थे।

झंडेवालान में बुजुर्गों-गर्भवती महिलाओं को प्रवेश नहीं

झंडेवालान मंदिर के मीडिया प्रभारी नंद किशोर सेठी ने बताया कि नए साल को लेकर मंदिर प्रशासन की तैयारियां पूरी है। 10 वर्ष से छोटे बच्चों व 65 से अधिक उम्र के बुजुर्गों व गर्भवती महिलाओं के प्रवेश पर रोक रहेगी। बिना मास्क, थर्मल स्क्रीनिंग और हाथों को सेनेटाइज के प्रवेश नहीं मिलेगा। उन्होंने कहा, नए साल पर नवरात्र से ज्यादा श्रद्धालु मंदिर में मां दुर्गा के दर्शन करने पहुंचते हैं। पिछली बार नए साल पर एक लाख श्रद्धालु पहुंचे थे।

हनुमान मंदिर में विशेष पूजा होगी

कनॉट प्लेस स्थित प्राचीन हनुमान मंदिर के महंत सुरेश शर्मा ने बताया कि कोरोना की बीमारी से जल्द छुटकारा के लिए मंदिर में विशेष पूजा-अर्चना की जाएगी। भीड़ को व्यवस्थित करने के लिए जिला प्रशासन, स्थानीय पुलिस का सहयोग लिया जा रहा है।

इस्कॉन मंदिर में होगा भजन कीर्तन

द्वारका स्थित इस्कॉन मंदिर में गायिका गौरा मणि श्रद्धालुओं के लिए भक्ति गीत की प्रस्तुति देंगी। इस्कॉन मंदिर में सामाजिक दूरी का ध्यान रखते हुए रात्रि भोज का आयोजन भी होगा। मंदिर में सभी भक्तों के लिए 7-कोर्स सात्विक भोजन की व्यवस्था की जाएगी।

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *