नई दिल्ली: राजधानी दिल्ली में बीते कुछ दिनों में लगातार मौसम में बदलाव देखा गया है. कभी घना कोहरा तो कभी बारिश के अलावा धूप भी देखी गई है. हालांकि दिल्लीवालों को अभी भी अच्छी ठंड का इंतजार है. लेकिन अब दिल्लीवालों का ये इंतजार खत्म हो सकता है. मौसम विभाग (आईएमडी) का कहना है कि 29, 30, 31 दिसंबर और 1 जनवरी को ठंड में इजाफा हो सकता है. इस दौरान शीत लहर का प्रकोप भी देखने को मिल सकता है.

मौसम विभाग के मुताबिक पश्चिमी हिमालयी क्षेत्र से आने वाली ठंडी उत्तर-पश्चिमी हवाएं सोमवार से दिल्ली, पंजाब, हरियाणा और चंडीगढ़ के कुछ हिस्सों में शीत या गंभीर शीत लहर की स्थिति पैदा करेंगी. जिसका असर सोमवार को देखने को भी मिला. इस दौरान दिल्ली में शाम से ही हल्की शीत लहर का प्रकोप देखा गया. जानकारी के मुताबिक शीत लहर तब होती है जब न्यूनतम तापमान 10 डिग्री सेल्सियस या उससे कम हो जाता है और सामान्य तापमान 4.5 डिग्री सेल्सियस या उससे कम होता है.

शीत लहर से होगा ठंड में इजाफा

दिल्ली में इस महीने अब तक पांच बार शीत लहर दर्ज की गई हैं. वहीं अधिकतम तापमान 28 दिसंबर के बाद 3 से 5 डिग्री सेल्सियस तक गिरने का अनुमान है. आने वाले दिनों के मौसम के बारे में मौसम विभाग के अधिकारी डॉक्टर राजेंद्र कुमार जीनामनी ने बताया कि अक्टूबर-नवंबर में तापमान न्यूनतम था लेकिन 1 से 10 दिसंबर तक ठंड नहीं रही. हालांकि 10 से 20 दिसंबर तक ठंड का प्रकोप रहा. वहीं अब 29 दिसंबर से 1 जनवरी तक ठंड रहने वाली है. इसके साथ ही शीत लहर से भी ठंड में काफी इजाफा होगा.

पहाड़ी इलाकों में बर्फबारी

वहीं पहाड़ी इलाकों में बर्फबारी देखी गई है. जिसकी वजह से उत्तर भारत मे ठंड का प्रकोप अब बढ़ने लगा है. मौसम विभाग ने उम्मीद जताई है कि आने वाले दिनों में मौसम ठंडा बना रहेगा और न्यूनतम तापमान भी 4 से 5 डिग्री के आसपास या उस से कम हो सकता है. वहीं शीत लहर भी काफी रहेगी. अगले 2-3 दिनों में तापमान में गिरावट भी दर्ज की जा सकती है.

ठंड ने तोड़ा रिकॉर्ड

हालांकि इस बार अक्टूबर और नवंबर के महीने में सामान्य से काफी ज्यादा ठंड पड़ी है, जिसने पिछले 17 सालों के रिकॉर्ड भी तोड़ दिए हैं. दिसंबर महीने के शुरुआत में ठंड काफी कम हो गई, जिससे तापमान भी सामान्य से छह डिग्री ज्यादा रहा. वहीं अब साल खत्म होते-होते ठंड बढ़ने की उम्मीद जताई जा रही है. इस बीच मौसम विभाग की ओर से एडवाइजरी जारी कर आने वाली ठंड से बचने को भी कहा गया है.

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *