कांग्रेस आज अपना 136वां स्थापना दिवस मना रही है। इस अवसर पर कांग्रेस ने विभिन्न जिलों में मार्च निकालने का आह्वान किया था। इसे देखते हुए पुलिस की तैनाती कर दी गई और कांग्रेस को मार्च निकालने से रोक दिया गया। लखनऊ में उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने पार्टी के प्रदेश कार्यालय में ध्वजारोहण के बाद कार्यकर्ताओं के साथ  हजरतगंज में जीपीओ पार्क में महात्मा गांधी की प्रतिमा पर माल्यापर्ण करने जाने लगे तो पुलिस ने रोक दिया। इससे नाराज होकर लल्लू पार्टी के अन्य नेताओं के साथ कांग्रेस ऑफिस के बाहर ही धरने पर बैठ गए। वाराणसी में भी मार्च निकालने से पहले कांग्रेसियों को नजरबंद कर दिया गया। प्रयागराज में भी कांग्रेसियों को मार्च निकालने से रोका गया। 

लखनऊ में सोमवार को कांग्रेस के प्रदेश कार्यालय से जीपीओ पार्क में महात्मा गांधी की प्रतिमा पर माल्यापर्ण करने जा रहे थे। इसी बीच पुलिस ने सभी कांग्रेसी नेता और कार्यकर्ताओं को रोका दिया। इनका कार्यक्रम कांग्रेस के प्रदेश कार्यालय से गांधी प्रतिमा तक जाने का था। पुलिस के रोकने से सभी नेता विरोध करने लगे। अजय कुमार लल्लू के साथ वहां पर नसीमुद्दीन सिद्दीकी तथा प्रदेश कांग्रेसी कमेटी के अन्य नेता धरने पर बैठ गए। इसके विरोध में आज इनका उपवास का कार्यक्रम है।

अजय कुमार लल्लू के नेतृत्व में वहां पर बड़ी संख्या में कांग्रेसी एकजुट हैं। कांग्रेस के तमाम नेता तथा कार्यकर्ता धरने पर बैठे हैं। इन सभी का आरोप है कि प्रदेश की पुलिस दमन पर उतर आई है। आज कांग्रेस के स्थापना दिवस पर पार्टी के कार्यकर्ता और नेताओं को उत्तर प्रदेश सरकार की पुलिस ने लखनऊ में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की प्रतिमा पर माल्यार्पण तक नहीं करने दिया। कांग्रेस संदेश यात्रा लखनऊ में पार्टी के प्रदेश कार्यालय से निकल रही थी।

वाराणसी में स्थापना दिवस पर जिला और महानगर कांग्रेस कमेटी के कार्यकर्ता पदयात्रा निकालने की तैयारी में थे। इससे पूर्व जिला प्रशासन ने उनकी मंशा पर पानी फेर दिया। चांदपुर स्थित  कैम्प कार्यालय पर कार्यक्रम के लिए एकत्रित हुए कांग्रेस कार्यकर्ताओं को पुलिस ने नजरबंद कर दिया है। वहीं नाराज कांग्रेसजनों ने कहा कि क्या लोकतंत्र में अब हम अपने पार्टी का स्थापना दिवस भी नहीं मना सकते। पदयात्रा के संबंध में मंडुवाडीह थानाध्यक्ष ने बताया कि हमें प्रशासन की ओर से कोई अनुमति पत्र नहीं मिला है। इसलिए हम पदयात्रा की अनुमति नहीं दे सकते हैं। नज़रबंद होने वालों में जिलाध्यक्ष राजेश्वर सिंह पटेल और जिला उपाध्यक्ष डॉ. जितेंद्र सेठ सहित अन्य कार्यकर्ता शामिल हैं।

प्रयागराज में जिला एवं शहर कांग्रेस कमेटी के साथ स्टूडेंट्स यूनियन ऑफ इंडिया (एनएसयूआइ) की ओर से पदयात्रा का आयोजन किया गया। नेहरू-गांधी परिवार की जन्मस्थली आनंद भवन पर दोपहर 12 बजे कांग्रेसी जुटे। इससे पहले भारी फोर्स भी तैनात कर दी गई। वरिष्ठ कांग्रेस नेता और कांग्रेस वर्किंग कमेटी के (सीडब्ल्यूसी) के सदस्य प्रमोद तिवारी पहुंचे। उनके पहुंचते ही कांग्रेसियों ने सरकार विरोधी नारे लगाए। इसके बाद उन्होंने पदयात्रा को हरी झंडी दी और कार में सवार होकर वापस चले गए। इसके बाद कांग्रेसियों की टुकड़ी आगे बढ़ी तो पुलिस ने रोक दिया। कांग्रेसियों को हिरासत में लेकर पुलिस लाइन भेज दिया गया।

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *