अगर आप नए साल में अपने वाहन से कहीं बाहर जाने की योजना बना रहे हैं और आपने अभी तक फास्टैग नहीं ल‍िया है, तो आपको टोल प्लाज़ा पर दुगना शुल्‍क देना होगा। और तो और हो सकता है कुछ टोल प्लाज़ा पर आपको नो-एंट्री का बोर्ड दिख जाये। जी हां 31 दिसम्बर की रात से देश के सभी टोल प्लाजाओं की कैश लेन बंद हो जाएंगी और सभी टोल इलेक्ट्रानिक कलेक्शन प्रक्रिया में शामिल हो जायेंगे।

भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआइ) द्वारा राष्ट्रीय राजमार्ग स्थित सभी टोल प्लाजा से कैश लेनदेन (नकदी) को बंद करने का निर्णय 1 जनवरी से लागू होने के बाद बिना फास्टैग वाले वाहन से किसी भी लेन में प्रवेश करने पर निर्धारित दर का दोगुना टोल वसूला जाएगा। इसके अलावा उत्तर प्रदेश के कई टोल प्लाजा पर बिना फ़ास्ट टैग के प्रवेश निषेध है। सरकार का यह क़दम ईधन की बर्बादी को रोकने और जाम मुक्त सफर देने के मकसद से शुरू किया जा रहा है।

एनएचआई के परियोजना निदेशक चिंतामणि द्विवेदी के अनुसार एनएचएआई के मानकों के अनुसार स्थानीय वाहनों को भी छूट का प्रावधान नहीं है। फिलहाल स्थानीय वाहनों को विभिन्न टोल प्लाजा पर कैसे छूट दी जा रही है, इसकी समीक्षा की जाएगी। एक जनवरी से बगैर फास्टैग वाहनों से दोगुना टोल वसूला जाएगा। उन्होंने बताया कि स्थानीय वाहन स्वामियों को 20 किमी के दायरे में मासिक शुल्क के साथ फास्टैग रिचार्ज कराना अनिवार्य होगा, क्योंकि नई व्यवस्था में कैश लेन नहीं होगी।

क्या है फास्टैग

फास्‍टैग रेडियो फ्रीक्वेंसी आइडेंटिफिकेशन (RFID) पर आधारित एक टैग है जो गाड़ी की विंडस्क्रीन पर लगता है. वाहनों पर लगा यह फास्‍टैग इलेक्ट्रॉनिक तरह से पढ़ा जाता है। आसान भाषा में समझें तो टोल प्‍लाजा पर लगे कैमरे इसे स्‍कैन कर सकेंगे और निर्धारित रकम अपने आप कट जाएगी। भुगतान के बाद टोल का फाटक खुल जाएगा और इससे किसी तरह की परेशानी नहीं होगी। अभी तक बिना फास्टैग वाली गाड़ियों को टोल प्लाजा पर कैश देना होता है। जिससे टोल प्लाजा पर जाम की स्थिति हो जाती है. जाम को कम करने के लिए फास्टैग की सुविधा की जा रही है।

कैसे रिचार्ज होता है फास्टैग?

फास्टैग को गाड़ी के शीशे पर लगाया जाता है। जब आपकी गाड़ी टोल प्लाजा से गुजरेगी तो वहां लगा सेंसर इसे रीड कर लेगा और आपके फास्टैग अकाउंट से पैसे कट जाएंगे। आपको पैसे देने के लिए टोल प्लाजा पर ज्यादा देर रूकना नहीं पड़ेगा। फास्‍टैग को ऑनलाइन पेमेंट मोड से मोबाइल की तरह रिचार्ज करा सकते हैं। इसके अलावा फास्‍टैग को My FASTag ऐप या नेटबैंकिंग के जरिए भी रिचार्ज कराया जा सकता है।

यहां से ले सकते हैं FASTag

  1. टोल प्लाजा
  2. राष्ट्रीय राजमार्ग पर मौजूद पेट्रोल पंप
  3. RTO
    4 NHAI ऑफिस
  4. अमेजन, फ्लिपकार्ट, पेटीएम
  5. बैंक्स जैसे ICICI Bank, HDFC Bank Axis Bank
  6. My fastag app

एक फास्टैग को लेने के लिए 200 रुपये खर्च करने होंगे और कम से कम 100 रुपये का रिचार्ज कराना होगा। फास्टैग रिचार्ज कराने के लिए टोल पर भी काउंटर है, जिस पर जाकर लोग फास्टैग रिचार्ज करा सकते हैं।

FASTag के लिए इन डॉक्यूमेंट्स की जरूरत

  1. गाड़ी की आरसी (रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट)
  2. केवाईसी डॉक्यूमेंट्स
  3. ड्राइविंग लाइसेंस
  4. वोटर आईडी कार्ड
  5. पैन कार्ड
  6. आधार कार्ड
  7. पासपोर्ट

तो अगर ड्राइव के दुगने खर्च से बचाना चाहते हैं तो जल्द से जल्द अपनी गाड़ी का फास्टैग ले लीजिये क्योंकि 1 जनवरी 2021. से ये साल गाड़ी और ड्राइविंग के लिहाज़ थोड़ा मंहगा है |

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *