योगी सरकार में कैबिनेट मंत्री अनिल राजभर ने अब दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को चुनौती दी है। अनिल राजभर ने यहां तक कह दिया कि दिल्ली के मुख्यमंत्री बनारस मॉडल को आकर देखें, यदि एक भी विद्यालय बनारस की तरह से दिखा दें तो मैं राजनीति छोड़ दूंगा। हमारे बनारस के परिषदीय विद्यालय किसी रीसार्ट से कम नहीं हैं। बनारस के शिक्षकों ने परिषदीय विद्यालयों की तस्वीर को बदल दिया है। आज बनारस के परिषदीय विद्यालयों में नो एडमिशन का बोर्ड लग गया है। यह सारा श्रेय बेसिक शिक्षाधिकारी और वहां के स्कूलों के शिक्षकों को जाता है।

राजभर ने कहा कि बनारस के सैकड़ों विद्यालयों को शिक्षकों ने इस कदर सजाया है कि देखने पर लगता है कि कोई रीसार्ट हो। वहां की खुबसूरती देखकर मन बहुत प्रसन्न होता है। अनिल राजभर ने बेसिक शिक्षा विभाग के दो दिवसीय राज्य स्तरीय शैक्षणिक गुणवत्ता संवर्द्धन कार्यशाला के सामापन समारोह में बोल रहे थे। यहां सभी जिलों से आए शिक्षक और शिक्षिकाओं को मंत्री ने प्रमाण पत्र देखकर सम्मानित किया।

इस दौरान राज्य मंत्री रविन्द्र जायसवाल ने कहा कि बनारस माडल को पूरे उत्तर प्रदेश में लागू करने का निर्माण सरकार ने लिया है। आज बेसिक शिक्षा की गुणवत्ता में बहुत सुधार आया है। प्रदेश भर से आए शिक्षक शिक्षिकाओं ने बनारस माडल की सराहना की और कहा की अपना भी जिला हम बनारस की तरह से बनाएंगे।

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *