केंद्रीय मंत्री स्मृति इरानी शनिवार की सुबह अमेठी में पूर्व भाजपा विधायक जमुना प्रसाद मिश्रा के घर पहुंचीं। वहां परिवार वालों से मुलाकात कर शोक व्यक्त किया। जमुना प्रसाद का रविवार को निधन हो गया था। पूर्व विधायक जमुना प्रसाद लोकसभा चुनाव में स्मृति ईरानी के प्रस्तावक भी थे।

इससे पहले जमुना प्रसाद के निधन की खबर मिलते ही स्मृति ने उनके परिवार से फोन पर भी बात कर परिवार को ढांढ़स बंधाया था। उन्होंने ट्वीट भी करते हुए लिखा था कि अमेठी विधानसभा के पूर्व विधायक जमुना प्रसाद जी का निधन अमेठी भाजपा परिवार के लिए अपूरणीय क्षति है। वर्षों का उनका संघर्ष व संगठन के प्रति समर्पण हम सभी के लिए सदैव प्रेरणा का स्रोत रहेगा। ईश्वर उनकी आत्मा को शांति एवं परिजनों को इस दुःख को सहन करने की शक्ति प्रदान करें।

साल 2019 के लोकसभा चुनाव में प्रस्तावक रहे पूर्व विधायक जमुना प्रसाद मिश्र ने स्मृति ईरानी को सांसद बनाने की दिशा में बड़ी भूमिका भी निभाई थी।

जमुना प्रसाद मिश्र 1967 में जनसंघ से जुड़े थे। वर्ष 1993 में अमेठी विधानसभा से विधायक चुने गए थे। वर्ष 1980 और 90 के दशक में मिश्र बीजेपी से चार बार विधानसभा चुनाव भी लड़ चुके हैं। अमेठी विधानसभा से 1993 में विधायक भी निर्वाचित हुए थे। 

1971 में बांग्लादेश आंदोलन में पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के साथ वह तिहाड़ जेल भी जा चुके थे। मिश्र कई दिनों से बीमार थे और लखनऊ के एक अस्पताल में उनका इलाज कराया जा रहा था।

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *