नीति आयोग के सीईओ अमिताभ कांत शनिवार सुबह एक बार फिर वाराणसी पहुंचे। यहां पर मॉडल ब्लाक बन रहे सेवापुरी के विकास कार्यों का निरीक्षण किया और अधिकारियों के साथ प्रगति की समीक्षा की। सीईओ के साथ नीति आयोग के कई अधिकारी भी इस दौरान मौजूद रहे। 

सेवापुरी ब्लॉक में आयोजित कार्यक्रम में नीति आयोग के चेयरमैन ने बैठक शुरू की तो अब तक की लागू की गई योजनओं और भविष्‍य को लेकर तैयार होने वाली योजनाओं को लेकर रणनीति बनाने और उसे धरातल देने की तैयारियों की समीक्षा की। सीईओ ने आदर्श माडल ब्लाक सेवापुरी में अब तक हुए कार्यों की समीक्षा करने के साथ आगे का लक्ष्य भी निर्धारित किया। इसके बाद आयोग की टीम ब्लाक के हाथी गांव का निरीक्षण करने पहुंची। साथ ही कृषि समेत अन्य विभागों की ओर से लगाए गए स्टाल का अवलोकन किया।

इस दौरान अमिताभ कांत ने कहा कि मॉडल ब्लॉक बनाने को लोगों के व्यवहार परिवर्तन पर जोर देना होगा। अधिकारियों से कहा कि ग्रामीणों को विभिन्न जिम्मेदारियां सौंपने पर काम करें। गावों में सेवा दल को प्रशिक्षित करें। अगले छह माह में मॉडल ब्लॉक बनाने का लक्ष्य लेकर चलने को कहा गया है। 

अमिताभ कांत ने कहा कि हमारा लक्ष्य लोगों के व्यवहार में बदलाव लाना है। हम चाहते हैं कि सेवापुरी की कमेटी सभी योजनाओं को खुद चलाए। सफाई, स्वास्थ्य से लेकर सभी कार्यक्रम यहां के लोग ही चलाएंगे तभी असली बदलाव होगा। अगले छह से सात महीने लोगों के व्यवहार में बदलाव लाने पर काम होगा। यहां पर पिछले चार महीने में बहुत काम हुआ है। जो काम चार-पांच साल में होता था वह चार महीने में हुआ है। 

सीईओ ने कहा कि प्रधानमंत्री का लक्ष्य यही है कि सेवापुरी भारत का सबसे उज्जवल मॉडल ब्लाक बने। आज हुई तीन चार घंटे की बैठक में लोगों के व्यवहार में बदलाव के लिए ही काम हुआ है। पैसा खर्च कर कहीं भी विकास किया जा सकता है। लेकिन लोगों की सोच में बदलाव लाना बड़ा काम होता है। यहां के अधिकारी लोगों की सोच बदलने पर ही काम कर रहे हैं। 

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *