नई दिल्‍ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए जम्मू-कश्मीर में आयुष्मान भारत PM-JAY सेहत योजना का शुभारंभ किया। इस कार्यक्रम में जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा और गृह मंत्री अमित शाह भी मौजूद थे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तरफ से जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने जम्मू-कश्मीर में आयुष्मान भारत PM-JAY सेहत योजना के लाभार्थियों को ई-कार्ड वितरित किया।

योजना की शुरुआत से पहले अमित शाह ने कहा कि आज जम्मू-कश्मीर के लिए महत्वपूर्ण दिन है, क्योंकि आज ऐसी शुरुआत होने जा रही है जो जम्मू-कश्मीर के छोटे से छोटे नागरिक के स्वास्थ्य की चिंता करेगी। 15 लाख परिवारों को 5 लाख तक की सभी स्वास्थ्य सुविधाएं मुफ़्त मिलेंगी, हर कश्मीरी भाई-बहन के लिए आज ये योजना शुरू हो रही है।

प्रधानमंत्री ने योजना की शुरुआत के बाद कहा कि आज का दिन जम्मू-कश्मीर के लिए ऐतिहासिक है। जम्मू-कश्मीर के सभी लोगों को आयुष्मान योजना का लाभ मिलने जा रहा है। सेहत योजना अपने आप में एक बहुत बड़ा कदम है और जम्मू-कश्मीर के अपने लोगों के विकास के लिए ये कदम उठाता देख मुझे भी बहुत खुशी हो रही है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भाषण की 10 बड़ी बातें

1: अटल जी का जम्मू कश्मीर से एक विशेष स्नेह था। अटल जी इनसानियत, जम्हूरियत और कश्मीरियत की बात को लेकर हम सबको आगे के काम के लिए दिशा-निर्देश देते रहे हैं। आज जम्मू कश्मीर इसी भावना को लेकर आगे बढ़ रहा है।

2: ज़िला विकास परिषद के चुनाव ने एक नया अध्याय लिखा है। जम्मू-कश्मीर के हर मतदाता के चेहरे पर मुझे विकास के लिए एक उम्मीद नजर आई। इन चुनावों में जम्मू-कश्मीर के लोगों ने लोकतंत्र की जड़ों को और मजबूत करने का काम किया है।

3: जम्मू-कश्मीर में इन चुनावों ने ये भी दिखाया कि हमारे देश में लोकतंत्र कितना मजबूत है। लेकिन एक पक्ष और भी है, जिसकी तरफ मैं देश का ध्यान आकर्षित कराना चाहता हूं। पुडुचेरी में सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बावजूद पंचायत और म्यूनिसिपल इलेक्शन नहीं हो रहे।

4: कोरोना महामारी के दौरान जम्मू-कश्मीर में करीब 18 लाख सिलेंडर रिफिल कराए गए। स्वच्छ भारत अभियान के तहत जम्मू कश्मीर में 10 लाख से ज़्यादा टॉयलेट बनाए गए। लेकिन इसका मकसद सिर्फ शौचालय बनाने तक सीमित नहीं, ये लोगों के स्वास्थ्य को सुधारने की भी कोशिश है।

5: जम्मू-कश्मीर अब देश के विकास के साथ कंधे से कंधा मिलाकर चल रहा है, कोरोना को लेकर भी जिस तरह यहां काम हुआ है वो प्रशंसनीय है। जम्मू-कश्मीर में हेल्थ सेक्टर पर आज जितना ध्यान दिया जा रहा है उतना पहले कभी नहीं दिया गया।

6: आज JK आयुष्मान भारत-सेहत स्कीम शुरु की गई है। इस स्कीम के तहत लोगों को जब 5 लाख रुपये तक का मुफ्त इलाज मिलेगा तो जीवन में कितनी बड़ी सहूलियत आएगी। अभी आयुष्मान भारत योजना का लाभ राज्य के करीब 6 लाख परिवारों को मिल रहा था। सेहत योजना के बाद यही लाभ सभी 21 लाख परिवारों को मिलेगा।

7: इस स्कीम का एक और लाभ होगा, आपका इलाज सिर्फ जम्मू कश्मीर के सरकारी और प्राइवेट अस्पतालों तक सीमित नहीं रहेंगा। बल्कि देश में इस योजना के तहत जो हज़ारों अस्पताल जुड़े हैं, वहां भी ये सुविधा आपको मिल पाएगी।

8: सीमा पर गोलाबारी हमेशा चिंता का विषय रहा है। सांबा, पुंछ और कठुआ सहित सीमावर्ती क्षेत्रों में बंकरों के निर्माण का कार्य तीव्र गति से किया जा रहा है।

9: नए कृषि सुधारों ने जम्मू और घाटी में फूड प्रोसेसिंग इंडस्ट्री के लिए नए अवसर बना दिए हैं। इससे हज़ारों लोगों को स्वरोजगार के मौके मिलने वाले हैं।

10: संवेदनशील जगहों पर बड़ी तादाद में ना सिर्फ बंकर बनाए गए हैं बल्कि नागरिकों की सुरक्षा के लिए सेना और सुरक्षा बलों को भी खुली छूट दी गई है।

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *