पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की जयंती पर केंद्र सरकार ने कोरोना टीकाकरण शुरू करने से पहले का परीक्षण करने की घोषणा की है। शुक्रवार को केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने देश के चार राज्यों में टीकाकरण ट्रायल की योजना बनाई। आगामी 28 से 29 दिसंबर के बीच पंजाब, असम, आंध्र प्रदेश और गुजरात के दो-दो जिलों में परीक्षण होगा। मंत्रालय के मुताबिक इन राज्यों में परीक्षण की तैयारी पूरी हो चुकी है।

सरकार का फैसला, पंजाब और गुजरात सहित चार राज्य के दो-दो जिलों में परीक्षण

मंत्रालय के अनुसार, अभी किसी टीके को अंतिम अनुमति नहीं दी गई लेकिन ज्यादातर राज्यों में तैयारियां पूरी हैं।

पहले चरण में करीब 30 करोड़ लोगों को टीका लगेगा। मौत का आंकड़ा सबसे ज्यादा होने के कारण पंजाब को प्राथमिकता दी गई है। पंजाब में कोरोना वायरस से मृत्युदर सबसे ज्यादा है। ‘अमर उजाला’ ने 22 दिसंबर को सबसे पहले बताया था कि सरकार 25 दिसंबर को टीकाकरण से जुड़ी घोषणा कर सकती है। इस बीच, सरकार ने शुक्रवार तक सभी जिलों में प्रशिक्षण खत्म करने के निर्देश दिए हैं। इसके तहत 25 दिसंबर तक देश के 2,360 प्रशिक्षण सत्र पूरे किए गए और सात हजार जिला निरीक्षकों का प्रशिक्षण पूरा हुआ। सरकार टीकाकरण शुरू करने से पहले तैयारियों का जायजा लेने के लिए परीक्षण कर रही है।

तैयारी परखना चाहती है सरकार

इस परीक्षण से सरकार टीके से जुड़ी तैयारियों को परखना चाहती है। इस प्रक्रिया में किसी को टीका नहीं दिया जाएगा लेकिन पूरी प्रक्रिया की जांच कराई जाएगी। लोगों के पंजीयन से लेकर टीका केंद्र तक वितरण जैसी सभी प्रक्रिया पूरी होगी। इस बीच सरकार ने पंजीयन को लेकर कोविन एप और वेबसाइट भी बनाई है। एप ही लोगों जानकारी देगा कि किन्हें टीका लगाना है और एप से अपॉइनमेंट मिलेगा। स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार परीक्षण उसी तरह होगा जैसा टीकाकारण में बारे में योजना तैयार है।

2,360 लोगों को मिला राष्ट्रीय स्तर पर प्रशिक्षण

681 जिले के 49,604 कर्मचारी हुए प्रशिक्षित

17,831 में 1,399 ब्लॉक टीमों का प्रशिक्षण पूरा

1075 राष्ट्रीय, 104 राज्य स्तरीय हेल्पलाइन सेवा शुरू

4 राज्यों के 2-2 जिलों में 2 दिन में पांच परीक्षण सत्र

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *