भारतीय जनता पार्टी (BJP) कार्यकर्ताओं द्वारा कथित तौर पर गुरुवार को दिल्ली जल बोर्ड के उपाध्यक्ष राघव चड्ढा के ऑफिस में घुसकर तोड़फोड़ करने और जान से मारने की धमकी देने का मामला सामने आया है। राघव चड्ढा ने घटना के बाद एक वीडियो ट्वीट कर इसकी जानकारी दी है। वीडियो में कुछ लोग पुलिस की मौजूदगी में उनके ऑफिस के दरवाजे और सीसे तोड़ते दिख रहे हैं। वहीं, आम आदमी पार्टी द्वारा शेयर किए गए एक वीडियो में दिल्ली भाजपा अध्यक्ष आदेश गुप्ता भी लोगों की भीड़ के बीच मौजूद दिख रहे हैं। 

राघव चड्ढा ने कहा कि भाजपा के गुंडों ने आज दिल्ली पुलिस के सामने दिल्ली जल बोर्ड के अंदर घुस कर काफी तोड़फोड़ की है। कई अधिकारियों को चोटें आई हैं, खून फ्लोर पर गिरा पड़ा है। उन्हें फर्स्ट ऐड के लिए भेजा गया है। कई महिलाएं तो डर के मारे अभी तक कमरों से बाहर नहीं आई हैं। भाजपा चाहे कितने भी हमले कर ले, हम पीछे हटने वाले नहीं हैं। हम भाजपा की तरह कायर नहीं है। हम किसानों के साथ खड़े थे और हमेशा खड़े रहेंगे।

राघव चड्ढा ने कहा ”भाजपा के गुंडे मेरे ऊपर हमला करने आए क्योंकि अरविंद केजरीवाल जी और हम सब किसानों के लिए आवाज उठा रहे हैं। मेरे ऑफिस में आकर तोड़फोड़ करते हैं और कहते हैं समझा देना अपने केजरीवाल को, किसानों के हक की आवाज उठाना बंद करे। भाजपइयों, चाहे जान चली जाए, हम डरने वाले नहीं हैं ।”

वहीं, अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट कर कहा, ”ये बेहद शर्मनाक है भाजपा समझ ले कि आम आदमी पार्टी और मेरी सरकार पूरी तरह से अंतिम सांस तक किसानों के साथ है। इस तरह के कायरना हमलों से हम नहीं डरते। मेरी सभी कार्यकर्ताओं से अपील है कि भाजपा के इस तरह के हमलों से उत्तेजित ना हों, संयम बरतें और पूरी तरह से किसानों का साथ दें।”

ज्ञात हो कि इससे पहले 10 दिसंबर को आम आदमी पार्टी (AAP) ने आरोप लगाया था कि दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के आवास के सामने धरना दे रहे भाजपा कार्यकर्ता पुलिस के साथ धक्का-मुक्की करने के बाद गेट तोड़कर जबरन सिसोदिया के घर में घुस गए थे। सिसोदिया ने घटना से जुड़ा एक वीडियो ट्वीट कर कहा था कि आज बीजेपी के गुंडे मेरी गैरमौजूदगी में मेरे घर के दरवाजे तोड़कर अंदर घुस गए और मेरे बीवी बच्चों पर हमला करने की कोशिश की। अमित शाह जी आज आप दिल्ली में राजनीति में हार गए तो अब इस तरह से हमें निपटाएंगे? 

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *