लश्कर-ए-तैयबा के दो आतंकवादियों ने मंगलवार की तड़के दक्षिण कश्मीर के कुलगाम जिले में सुरक्षा बलों और आतंकियों के बीच हुए एक मुठभेड़ के बाद सुरक्षा बलों के समक्ष आत्मसमर्पण कर दिया है ।

क्षेत्र में आतंकियों के होने की जानकारी मिलने के बाद सेना के 34RR और CRPF के अलावा श्रीनगर और कुलगाम पुलिस की एक संयुक्त टीम ने कुलगाम के तोंगडोनू इलाके में एक कॉर्डन-एंड-सर्च ऑपरेशन शुरू किया। जैसे ही संयुक्त टीम संदिग्ध स्थान की ओर बढ़ी, छिपे हुए आतंकवादियों ने उन पर गोलीबारी की, जिससे मुठभेड़ शुरू हो गई। कुछ घंटे चले मुठभेड़ के बाद सेना को बड़ी कामयाबी हाथ लगी । दोनों आतंकियों ने सुरक्षा बलों के सामने आत्मसमर्पण कर दिया । इस ऑपरेशन में लश्कर से जुड़े इन आतंकियों के परिजनों ने अहम भूमिका निभाई । ऑपरेशन के दौरान सुरक्षा बलों ने उनके परिजनों से बात चीत की और उन्हें कॉन्फिडेंस में लिया । बाद में आतंकियों के परिजन उन्हें आत्मसमर्पण के लिए मनाने में कामयाब रहे , और लश्कर से जूड़े इन आतंकियों ने सरेंडर किया ।

“इस पूरे घटनाक्रम की पुष्टि करते हुए, पुलिस महानिरीक्षक कश्मीर विजय कुमार IPS ने बताया कि आग के प्रारंभिक आदान-प्रदान के बाद, लश्कर-ए-तैय्यबा से जुड़े आतंकवादियों ने हथियार डालने की पेशकश करने के बाद आत्मसमर्पण कर दिया।”
उन्होंने ये भी बताया कि इस साल एनकाउंटर , सर्च एंड कॉर्डेन ऑफ़ की कार्रवाई के दौरान बारह आतंकवादियों ने आत्मसमर्पण किया है, जो हाल के वर्षों में घाटी में अब तक का सबसे अधिक सरेंडर है। घाटी में आतंकियों द्वारा लगातार बढ़ रही आत्मसमर्पण की घटनाएं इस बात को साबित करती हैं कि घाटी में लोगों का सुरक्षा बलों की तरफ विश्वास बढ़ा है और आतंकवाद को लेकर लोग सजग हुए हैं ।

  • जम्मू-कश्मीर के कुलगाम में मुठभेड़ के बाद 2 लश्कर तैय्यब के उग्रवादियों ने किया आत्मसमर्पण: IGP
  • इस साल लाइव एनकाउंटर की कार्रवाई के दौरान जम्मू-कश्मीर में 12 उग्रवादियों ने हथियार डाले |

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *