नई दिल्ली : दिल्ली-एनसीआर समेत पूरे उत्तर भारत में काड़ाके की ठंड पर रही है। सर्दी के इस सितम से लोग परेशान और घर में दुबके रहने को मजबूर है। कई जगहों पर तामपान का पारा शून्य के पार भी पहुंच गया है। मौसम विभाग की माने तो फिलहाल शीत लहर और कोहरा का कहर जारी रहेगा।

मौसम विभाग का कहना है कि 26 दिसंबर के आसपास पहाड़ों पर वेस्‍टर्न डिस्‍टर्बेंस देखने को मिल सकता है, जिसकी वजह से जम्‍मू-कश्‍मीर, हिमाचल एवं उत्‍तराखंड में बारिश और बर्फबारी हो सकती है। 29 दिसंबर के आसपास मौसम और भी सर्द हो सकता है। साथ ही कई जगहों पर कृषि, जल आपूर्ति, परिवहन और बिजली क्षेत्र के भी प्रभावित होने की भी आशंका जाहिर की गई है।मौसम विभाग का कहना है कि 31 जनवरी को ‘चिल्लई कलां’ खत्म होने के बाद भी कश्मीर में शीतलहर जारी रहेगी। इसके बाद 20 दिन का ‘चिल्ला खुर्द’ और फिर 10 दिवसीय ‘चिल्लई बच्चा’ शुरू होगा।

मौसम विभाग के पूर्वानुमान के मुताबिक 22 दिसंबर के बाद 23,24 एवं 25 दिसंबर के आसपास दिल्‍ली-एनसीआर के न्‍यूतनतम तापमान में और गिरावट दर्ज की जाएगी। वहीं उत्‍तर पश्चिमी भारत खासकर पंजाब और हरियाणा में काफी कोहरे दिख सकता है। आपको बता दें कि पंजाब में सबसे कम तापमान आदमपुर में 3.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया। वहीं, हरियाणा के अंबाला में यह 3.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।उत्तर प्रदेश और बिहार में भी पिछले कुछ दिनों से शीतलहर से हालत बेहद खराब है। मौसम विभाग के मुताबिक अगले 48 घंटे तक ऐसी ही स्थिति बनी रहेगी। लगातार बढ़ रही ठंड के बीच मौसम विभाग ने स्‍वास्‍थ्‍य दिक्‍कतों संबंधी दिक्कतों का पूर्वानुमान जताया गया है। शीतलहर की वजह से फ्लू, जुकाम होने/नाक बहने या नकसीर जैसी विभिन्न बीमारियां बढ़ सकती है। लिहाजा लोगों को ठंड से बचने की सलाह दी गई है।

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *