छत्तीगढ़ में दिल दहला देने वाली घटना हुई है। दुर्ग जिले के एक गांव में एक परिवार के चार लोग मृत पाए गए, जबकि एक 11 वर्षीय लड़का गंभीर हालत में है। पुलिस ने कहा कि बलराज सोनकर (60), उनकी पत्नी दुलारिन बाई (55), उनके बेटे रोहित (30) और बहू कीर्तिन के शव उनके घर के आसपास मिले। यह घटना जिले के अमलेश थाना अंतर्गत खुड़मुड़ा गांव में सोमवार की सुबह घटी है।

पुलिस ने कहा कि सोनकर का पोता जख्मी हालत में घर के अंदर पाया गया था और उसे रायपुर के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

उप-विभागीय पुलिस अधिकारी (एसडीओपी) आकाश राव ने कहा कि चार शव पानी की टंकी में तैरते पाए गए। दो को एक भारी वस्तु से कुचल दिया गया। घटना मध्यरात्रि के करीब हुई है। एसडीओपी ने कहा कि लड़का, जो हमले में बच गया, मामले का एकमात्र चश्मदीद गवाह है और उसकी हालत गंभीर है।

एसडीओपी ने कहा, “शुरुआत में, हमें महिलाओं के दो शव और 11 वर्षीय लड़का मिला, जो गंभीर रूप से घायल होने के कारण बेहोश था। बाद में स्निफर डॉग्स की मदद से हमें बलराज और रोहित दोनों के शव पास के पानी की टंकी में मिले।”

पुलिस ने कहा कि वे अभी तक हत्याओं के पीछे के मकसद का पता नहीं लगा सके हैं और आरोपियों की तलाश में हैं। परिवार की आमदनी का जरिया खेती था। पुलिस ने कहा कि सभी गांव के बाहर अपने खेत में एक झोपड़ी में रहते थे। पुलिस ने कहा कि ग्रामीणों ने पुलिस को बताया कि परिवार की किसी से कोई दुश्मनी नहीं है और उन्होंने किसी के घर जाने की सूचना नहीं दी।

एसडीओपी ने कहा कि हम मामले में लीड पर काम कर रहे हैं। जल्द ही कुछ सकारात्मक जानकारी मिलेगी। छत्तीसगढ़ के पुलिस महानिदेशक डीएम अवस्थी ने बताया कि मामले को सुलझाने के लिए चार टीमों का गठन किया गया है।

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *