कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व वाणिज्य मंत्री आनंद शर्मा ने सोमवार को कहा कि राष्ट्र ने हाल के वर्षों में अपने बुनियादी ढांचे में वृद्धि की है। ऐसे में मैं केंद्र और राज्य सरकारों को साथ काम करने के लिए बधाई देता हूं। उन्होंने कहा कि संकट के समय देश एकजुट होकर खड़ा रहा। इससे पहले उन्होंने प्रधानमंत्री के कोविड-19 का टीका विकसित कर रही कंपनियों का दौरा करने को लेकर ट्वीट किया था। जिसे प्रधानमंत्री की सराहना के तौर पर देखा जा रहा था। हालांकि उन्होंने बाद में इसपर अपनी सफाई भी दी थी।

शर्मा ने कहा, ‘इस साल की पहली तिमाही सबसे खराब रही क्योंकि जीडीपी पर प्रतिकूल असर पड़ा। हालांकि, हमने दूसरी तिमाही में वापसी की और हमें उम्मीद है कि शेष दो तिमाहियों में भी, रिकवरी का संतुलन बना रहेगा।

कांग्रेस नेता ने आगे कहा, ‘भारत ने अपने बुनियादी ढांचे में वृद्धि की है और मैं इसके लिए केंद्र और राज्य सरकारों को बधाई देता हूं क्योंकि उन्होंने इसके लिए साथ मिलकर काम किया है। इस संकट की घड़ी में देश एकजुट होकर खड़ा हुआ।’

बता दें कि शर्मा कांग्रेस के उन 23 असंतुष्टों नेताओं के समूह का हिस्सा थे, जिन्होंने इस साल की शुरुआत में पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी को पत्र लिखा था। इसमें कांग्रेस के भीतर बदलाव की मांग की गई थी। शनिवार को गांधी ने शर्मा सहित सभी असंतुष्टों के साथ बैठक की, जिसका उद्देश्य मौजूदा अंतर्कलह को समाप्त करना था।

पीएम मोदी की सराहना पर दी थी सफाई
प्रधानमंत्री मोदी के वैक्सीन निर्माता कंपनियों का दौरा करने पर शर्मा ने ट्वीट कर कहा था, ‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सीरम इंस्टीट्यूट, भारत बायोटेक और जाइडस कैडिला की यात्रा भारतीय वैज्ञानिकों और कोविड-19 के लिए टीका तैयार करने के उनके काम की पहचान है। यह अग्रिम पंक्ति के कोविड योद्धाओं का मनोबल बढ़ाएगा और राष्ट्र को आश्वस्त करेगा।’ हालांकि बाद में उन्होंने अपने इस ट्वीट पर खेद जताते हुए सफाई दी थी। सफाई में उन्होंने कहा था, ‘पहले के ट्वीट में कुछ गलती के कारण लाइनें मिसप्लेस (गलत जगह) हो गईं, जिसकी वजह से भ्रम पैदा हुआ।’

शर्मा ने राज्यसभा के सभापति के सामने पेश की कोविड-19 से संबंधित रिपोर्ट
राज्यसभा सांसद आनंद शर्मा की अध्यक्षता में गृह मामलों से संबंधित संसद की स्थायी समिति ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए सोमवार को राज्यसभा के सभापति को ‘कोविड-19 महामारी और संबंधित मुद्दों के प्रबंधन’ पर 229वीं रिपोर्ट पेश की।

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *